नई दिल्ली/दक्षिण भारत। देश कोरोना महामारी से मजबूती के साथ मुकाबला कर रहा है और मामलों में लगातार सुधार जारी है। स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय ने बुधवार को बताया कि भारत की कोरोना जांच क्षमता में तेजी से वृद्धि हो रही है।

अब तक कुल जांच संख्या 13.5 करोड़ तक पहुंच चुकी है। वहीं, जांच संख्या बढ़ने के बावजूद कोरोना मामलों की पॉजिटिव दर में लगातार गिरावट देखी जा रही है।

मंत्रालय ने बताया कि देश में कोरोना जांच करने के बुनियादी ढांचे में जनवरी से ही लगातार वृद्धि की जा रही है। इसके नतीजे में जांच की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हुई है। इससे कोरोना महामारी पर काबू पाने के प्रयासों में उल्लेखनीय सफलता मिल रही है। जानकारी के अनुसार, पिछले 24 घंटों में की गई 11,59,032 जांचों के साथ, कुल टेस्ट संख्या 13.5 करोड़ तक पहुंच चुकी है।

मंत्रालय ने बताया कि व्यापक एवं विस्तृत परीक्षण के नतीजों के तौर पर, कोरोना मामलों की पॉजिटिव दर में कमी दर्ज की गई है। वहीं, राष्ट्रीय स्तर पर भी कोरोना मामलों के पॉजिटिव होने की दर में काफी गिरावट आई है।

इससे पता चलता है कि देश में संक्रमण के प्रसार की दर प्रभावी रूप से सीमित है। पॉजिटिव मामलों की दर में लगातार गिरावट आ रही है। यह 6.84 प्रतिशत पर आ गई है। देश में कोरोना मामलों के पॉजिटिव होने की दैनिक दर 3.83 प्रतिशत हो गई है।

उल्लेखनीय है कि देश में 1,167 सरकारी प्रयोगशालाओं और 971 निजी प्रयोगशालाओं के साथ कुल 2,138 परीक्षण प्रयोगशालाएं कोरोना मामलों की जांच में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही हैं।