प्रतीकात्मक चित्र
प्रतीकात्मक चित्र

कानपुर/भाषा। बिकरू गांव में कुख्यात अपराधी विकास दुबे की तलाश में पुलिस दबिश के दौरान आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में वांछित दो इनामी अभियुक्तों ने कानपुर देहात जिले की विशेष अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया। पुलिस ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी।

एक अधिकारी के मुताबिक अदालत ने दोनों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। पुलिस अधीक्षक ग्रामीण ब्रजेश श्रीवास्तव ने बृहस्पतिवार को बताया कि बिकरू कांड के आरोपी विष्णु पाल सिंह उर्फ जिलेदार (ग्राम प्रधान) और शिवम दुबे ने कानपुर देहात जिले की विशेष अदालत (उप्र डकैत-प्रभावित क्षेत्र) के समक्ष आत्मसर्मपण कर दिया। इन दोनों पर पचास हजार रुपए का इनाम घोषित था।

श्रीवास्तव ने बताया कि इन दोनों की रिमांड हासिल कर पुलिस बिकरू कांड को लेकर पूछताछ करेगी। एक अधिकारी ने बताया कि दस दिन पहले उप्र एसटीएफ ने शिवम के पिता बाल गोविंद को चित्रकूट के कर्वी इलाके से गिरफ्तार किया था। बाल गोविंद की गिरफ्तारी के बाद से पुलिस शिवम और विष्णुपाल की तलाश में थी।

दो तीन जुलाई की रात चौबेपुर के बिकरू गांव में कुख्यात अपराधी विकास दुबे को गिरफ्तार करने गई पुलिस टीम पर दुबे और उसके साथियों ने गोलियां बरसाकर एक पुलिस उपाधीक्षक समेत आठ पुलिस कर्मियों की हत्या कर दी थी। कुछ दिनों बाद विकास दुबे भी पुलिस हिरासत से भागने की कोशिश के दौरान मुठभेड़ में मारा गया था।