ऐतिहासिक दिन: जम्मू में 18 महीनों में दो चरण में बनेगा भगवान बालाजी का मंदिर

प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोतः PixaBay
प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोतः PixaBay

जम्मू/भाषा। जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने यहां श्री वेंकटेश्वर स्वामी मंदिर के ‘भूमि पूजन’ को केंद्रशासित प्रदेश के लिए ‘ऐतिहासिक एवं गर्व का दिन’ बताते हुए रविवार को कहा कि 33.22 करोड़ रुपए की लागत से मंदिर का दो चरण में 18 महीने में निर्माण कार्य पूरा होने की उम्मीद है।

सिन्हा ने कहा कि मंदिर का निर्माण कई क्षेत्रों में अवसर पैदा करेगा और क्षेत्र की अर्थव्यवस्था में निश्चित की बदलाव लाएगा। जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल ने ट्वीट किया कि तिरुमला तिरुपति देवस्थानम (टीटीडी) ने श्री वेंकटेश्वर स्वामी मंदिर का बहुप्रतीक्षित भूमि पूजन समारोह यहां माजीन में आयोजित किया।

सिन्हा ने कहा, ‘मैंने भूमि पूजन में भाग लिया और केंद्रीय राज्य मंत्री डॉ जितेंद्र सिंह, केंद्रीय राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी, टीटीडी बोर्ड अध्यक्ष और अन्य गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति में आधारशिला रखने के लिए पट्टिका का अनावरण किया।’

उन्होंने जम्मू-कश्मीर और उत्तर भारत के लोगों की श्री माता वैष्णो देवी की भूमि पर भगवान बालाजी के मंदिर की स्थापना की पुरानी इच्छा पूरी करने के लिए टीटीडी बोर्ड और केंद्र सरकार का आभार व्यक्त किया।

उपराज्यपाल ने कहा, ‘यह जम्मू-कश्मीर के लिए एक ऐतिहासिक और गर्व का दिन है। भगवान बालाजी का दिव्य आशीर्वाद आंतरिक खुशी की अवस्था है। दूसरे चरण में वेद पाठशाला भारतीय संस्कृति की नींव को मजबूत करेगी।’

उपराज्यपाल ने कहा कि 33.22 करोड़ रुपए की लागत से 62 एकड़ के क्षेत्र में बनने वाले इस मंदिर का निर्माण कार्य दो चरण में 18 महीने में पूरा हो जाने की उम्मीद है तथा इससे जम्मू में तीर्थयात्रा और धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।