आर्य समाज मंदिर में धार्मिक अनुष्ठान में भाग लेता परिवार
आर्य समाज मंदिर में धार्मिक अनुष्ठान में भाग लेता परिवार

अलीगढ़/दक्षिण भारत। उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में एक मुस्लिम शख्स ने हिंदू धर्म की शिक्षाओं से प्रभावित होकर परिवार समेत धर्म परिवर्तन किया है। हालांकि, अब उन्हें आशंका है कि कट्टरपंथी संगठनों की ओर से उन पर वापसी का दबाव डाला जा सकता है।

जानकारी के अनुसार, यहां थाना देहली गेट क्षेत्र के शहज़ामल में रहने वाले एक मुस्लिम परिवार ने यह फैसला किया है। इसके लिए उन्होंने आर्य समाज मंदिर में सभी पवित्र अनुष्ठान किए और खुशी-खुशी हिंदू धर्म अपना लिया। परिवार का कहना है कि वह हिंदू धर्म की शिक्षाओं से बहुत प्रभावित है जो ​सहिष्णुता, शांति और वसुधैव कुटुंबकम् की भावना पर जोर देता है।

परिवार के मुखिया कासिम खान ने कहा कि उन्होंने आठ साल पहले गैर-मुस्लिम महिला अनीता से शादी की थी। इस अवधि में वे एक ही घर में रहते हुए अपनी अलग-अलग धार्मिक मान्यताओं का पालन कर रहे थे।

कासिम ने बताया कि इस दौरान वे हिंदू धर्म से प्रेरित हुए और इसका अध्ययन किया तो पाया कि उनके पूर्वज भी हिंदू थे। इसके बाद उन्होंने अपने पूर्वजों के धर्म में वापसी का फैसला किया।

हिंदू धर्म में आने के बाद कासिम ने अपना नाम कर्मवीर मोहर सिंह रखा है। उनके दो बच्चे हैं जिन्होंने अपनी इच्छा से हिंदू धर्म अपना लिया है। कर्मवीर ने बताया कि इसके लिए बच्चों पर कोई दबाव नहीं था और उन्होंने स्वेच्छा से यह फैसला किया है।

कर्मवीर ने कहा कि कुछ कट्टरपंथी संगठन उन्हें धमकियां दे सकते हैं। ऐसे में उन्होंने जिला पुलिस से सुरक्षा का अनुरोध किया है।