सांकेतिक चित्र
सांकेतिक चित्र

नई दिल्ली। जापान के सॉफ्टबैंक ने कहा है कि भविष्य में बिजली जैसी बुनियादी जरूरत हमें मुफ्त में मिल सकती है। इसके सीईओ मासायोसी सन ने एक कार्यक्रम में इंटरनेशनल सोलर अलायंस (आईएसए) के सभी सदस्यों को कहा है कि 25 साल बाद मुफ्त में बिजली आपूर्ति हो सकती है। उन्होंने कहा है कि पावर परचेज अनुबंध पूरा होने के बाद वह इन देशों को मुफ्त में बिजली आपूर्ति कर सकता है।

अपने बयान में मासायोसी बताते हैं कि इस कार्य में धन और तकनीकी कोई समस्या नहीं है। इन 25 वर्षों में उनका निवेश दोबारा मिल जाएगा। फिर वे समाज के लिए योगदान करना चाहते हैं। मासायोसी ने कहा कि ये सोलर पैनल करीब 80 साल तक बिजली निर्माण में सक्षम हैं। ये देश के बड़े हिस्से में बिजली की कमी को दूर कर सकते हैं।

उन्होंने सौर ऊर्जा की अहमियत बताई और तकनीकी की उपलब्धता पर भी जोर दिया। मासायोसी सरकार की फ्लैगशिप रीन्यूएबल एनर्जी इवेंट को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने पेट्रोल की कीमतों में लगातार इजाफे की ओर इशारा किया। ऐसे में रीन्यूएबल एनर्जी भारत के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है।

मासायोसी ने ऊर्जा के क्षेत्र को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विजन को पूरा करने में सहयोग की बात कही। उन्होंने इसे कमाल की सोच कहा और मिलकर पूरा करने पर जोर दिया। उल्लेखनीय है कि जापान ऊर्जा के वै​कल्पिक स्रोतों का काफी इस्तेमाल करता है। वहां सौर ऊर्जा का बड़े पैमाने पर उपयोग किया जाता है। भारत के ज्यादातर हिस्सों में सालभर धूप उपलब्ध रहती है। अगर इसका कुशलतापूर्वक उपयोग किया जाए तो तेल पर निर्भरता काफी हद तक कम की जा सकती है।

ये भी पढ़िए:
– सीरिया में आतंकियों के अड्डे पर रूस का हमला, मारा गया बगदादी का बेटा
– कांग्रेस को मायावती का जोरदार झटका, राजस्थान और मप्र में गठबंधन नहीं करेगी बसपा
– शर्मनाक! व्रत के दौरान गंगा स्नान करने आई महिला से सामूहिक दुष्कर्म, बनाया वीडियो
– क्या आपने देखा है एक ही तरफ दो मुंह वाला यह दुर्लभ सांप, यहां देखिए वीडियो