जकल सेल्फी लेने का चलन इतना चल रहा है कि इंसान तो इंसान जानवर भी इस काम में पिछे नही हट रहे है। जी हां भले ही आपकों सुनने में यह अजीब लग रहा है लेकिन यह एक सच्ची घटना है। और सिर्फ इतना ही नही बंदर के द्वारा ली गई सेल्फी के लिए फोटोग्राफर पर मुगदमा भी ठोका गया है।दरअसल एक फोटोग्राफर पर यह मुकदमा बंदर की ओर से उस तस्वीर के लिए किया गया है जो उसने खुद खींचा था। असल में मामला यह था कि डेविड स्लेटर नामक एक फोटोग्राफर ने वन्य जंतुओं की अजीब हरकतों की तस्वीर लेने के लिए कैमरे को ट्राइपॉड पर लगा कर छो़ड दिया। कुछ समय बाद में एक लंगूर वहां आया और उसने अपनी आदतानुसार कैमरे से छे़डखानी शुरू कर दी। इस दौरान बंदर ने कई तस्वीरे ली इसमे से एक सेल्फी भी थी। अब मुकदमे का असली कारण यह है कि बंदर के द्वारा ली गई सेल्फी पर मालिकाना हक किसका होगा। आपको बता दें कि लंगूर की ओर से यह मुकदमा पीपल फॉर द एथिकल ट्रीटमेंट ऑफ एनीमल्स यानि पेटा ल़ड रही है। यह मामला कोई नया नही है बल्कि ६ वर्ष पुराना है। और यह घटना इंडोनेशिया के एक वन्य पार्क की है जहां नरुटो नामक एक लंगूर ने अपनी सेल्फी लेकर इस कारनामे को अंजाम दिया था। दूसरी तरफ ६ वर्ष से इस मुकदमें को ल़डने वाले फोटोग्राफर डेविड स्लेटर अब कंगाली की कगार पर आ गये हैं और अब उनके लिए ऑनलाइन कैम्पेन चलाए जा रहें हैं, ताकी उनको इंसाफ मिले।