बेंगलूरु में चली जिन्ना के स्टिकर वाली हरी बस

सोशल मीडिया पर वायरल हुई जिन्ना के स्टिकर वाली हरी बस की तस्वीर

316

बेंगलूरु। कर्नाटक के रजिस्ट्रेशन वाली हरे रंग की बस सोशल मीडिया पर ध़डकनें ब़ढा रही है। इस बस का नाम है ’’डेमोक्रेसी ट्रैवल’’ और इसपर पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना का स्टिकर लगा हुआ है। बुधवार को यह बेंगलूर के होसुरु रोड पर देखी गई।दरअसल, हरे रंग की यह बस शटल बस नहीं है और इसका इस्तेमाल मलयालम फिल्म की शूटिंग में किया जा रहा था। बस का होसुरु रोड से गुजरना फिल्म का हिस्सा था, बस किसी ने इसकी तस्वीरें ले लीं और सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया। देखते ही देखते यह तस्वीर वायरल हो गई और कुछ ऐक्टिविस्ट्स ने बस पर से जिन्ना की तस्वीर हटाने का आदेश दे दिया। बस के मालिक को जैसे ही यह महसूस होने लगा कि जिन्ना के स्टिकर से तनाव की स्थिति पैदा हो सकती है, उसने तुरंत स्टिकर हटा लिया। एक प्राइवेट कंपनी के कर्मचारियों, नीरज कामत और उनके दोस्त वीरेश ने बस की तस्वीर खींची थी और ट्वीटर पर पोस्ट कर दिया था। दोनों ने पुलिस कमिश्नर प्रवीण सूद को भी टैग कर दिया था। ट्वीटर पर तस्वीर पोस्ट करने वालों ने साथ में कहा कि यहां जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान हमारे जवानों पर हमला कर रहा है, अमरनाथ यात्रियों को निशाना बना रहा है। ऐसे में हमारी बस पर जिन्ना की तस्वीर क्यों? अगर यह किसी फिल्म के लिए है तो ऐसी चीजों का इस्तेमाल न करें जो पाकिस्तान की हैं। बस मालिक का सपॉर्ट करते हुए किसी ने कहा कि इस बात को मुद्दा नहीं बनाया जाना चाहिए, यह फिल्म की शूटिंग का हिस्सा है इसलिए जिन्ना का स्टिकर इस्तेमाल किया जा सकता है। वहीं बस के मालिक विशाल राज का कहना है, ’’सुनील ने एक दिन की लीज पर मलयालम डायरेक्टर सुबी विजयन को दी थी। केरल मे ंफिल्म की शूटिंग खत्म हो गई लेकिन अभी भी एक दिन की शूटिंग बची थी। उन्होंने मुझे बताया था कि बस को हरे रंग से रंगा जाएगा, लेकिन जिन्ना के स्टिकर वाली बात नहीं बताई गई थी।’’इस मामले में पुलिस का कहना है कि अब तक कोई शिकायत दर्ज नहीं की गई है और बस मालिक ने जिन्ना के स्टिकर हटा लिए हैं।