मगरमच्छ को बचाने के लिए किसानों ने जान जोखिम में डाली

बागलकोट। सूखे और जलसंकट से जूझ रहे कर्नाटक में इंसानों की हालत तो खराब है ही, बेजुबान जानवरों की स्थिति और ज्यादा गंभीर बनी हुई है। इस बीच बागलकोट जिले के एक गांव के लोगों ने मानवता की मिसाल पेश करते हुए अपनी जान जोखिम में डालकर, पानी न मिलने के कारण बेहाल हुए एक मगरमच्छ को बचाया है। मगरमच्छ को एक दलदली जगह पर बेहाल अवस्था में फंसा देखकर कुछ किसानों ने साहस का परिचय दिया और वे लोग बिना डरे मगरमच्छ को मुसीबत से निकालकर ले आए। इस हैरान कर देने वाले वीडियो फुटेज में दिखाई देता है कि कुछ लोग हाथों और कोहनी के बल पर चलकर कीच़ड में मगरमच्छ के पास जाते हैं। उनमें से एक शख्स यह देखने के लिए की मगरमच्छ जिंदा है या नहीं, उसके मुंह में हाथ डाल देता है। जिसके बाद वो लोग मगरमच्छ को दलदल से बचाने के लिए लक़डी से उसे बाहर निकालने की कोशिश करते हैं। इसके बाद एक शख्स उसे पूंछ से पक़डकर बाहर खींचता है। गड्ढे से निकलने के बाद सभी लोग मगरमच्छ को खींचकर बाहर लाते हैं और उसके ऊपर पानी डालते हैं।बागलकोट जिले के कोर्थी गांव में मानवता और साहस का परिचाय देने वाले जांबाज किसानों की हिम्मत को सब ओर से सराहा जा रहा है। माना जा रहा है कि मगरमच्छ कुछ दिन पहले कीच़ड में फंसा होगा। स्थानीय लोग इसके लिए प्रशासन को जिम्मेदार ठहराते हैं। उनका कहना है कि प्रशासन ने अगर नदी की सफाई करवाई होती और कीच़ड को हटाया होता तो इस तरह की घटना को रोका जा सकता था। हालांकि किसानों द्वारा हिम्मत, मेहनत और मानवता की मिशाल पेश करने बाद भी मगरमच्छ को नहीं बचाया जा सका क्योंकि कई दिनों से पानी न मिलने के कारण मगरमच्छ कमजोर और बीमार हो गया था।