logo
केजरीवाल सरकार ने राशन की दुकानें नहीं खोलीं, शराब की दुकानें खोल रही है: मीनाक्षी लेखी
लेखी ने पत्रकारों से कहा, इसके हानिकारक प्रभाव होंगे, क्योंकि इससे शराब की लत में फंसने से लोगों के परिवार टूट जाएंगे
 
भाजपा की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष आदर्श गुप्ता ने कहा कि उनकी पार्टी के कार्यकर्ता ‘आप’ सरकार की आबकारी नीति का कई सप्ताह से विरोध कर रहे हैं

नई दिल्ली/भाषा। केन्द्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी ने बुधवार को कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) सरकार राशन की दुकानें खोलने में नाकाम रही और अब शहर भर में शराब की दुकानें खोल रही है।

अरविंद केजरीवाल सरकार की नई आबकारी नीति के खिलाफ दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के हस्ताक्षर अभियान में हिस्सा लेते हुए, नई दिल्ली से सांसद ने कहा कि शराब की निजी दुकानें खोलने की अनुमति देने से दिल्ली सरकार के राजस्व पर असर पड़ेगा।

लेखी ने पत्रकारों से कहा, ‘केजरीवाल सरकार ने न तो राशन की कोई नई दुकान खोली है और न ही नए राशन कार्ड जारी किए हैं, लेकिन पूरे शहर में शराब की दुकानें खोल रही है। इसके हानिकारक प्रभाव होंगे, क्योंकि इससे शराब की लत में फंसने से लोगों के परिवार टूट जाएंगे।’

भाजपा की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष आदर्श गुप्ता ने कहा कि उनकी पार्टी के कार्यकर्ता ‘आप’ सरकार की आबकारी नीति का कई सप्ताह से विरोध कर रहे हैं और इसे वापस लिए जाने तक इसका विरोध जारी रखेंगे।

गुप्ता ने कहा, ‘दिल्ली के लोग, समान वितरण के नाम पर शहर भर में शराब की 850 दुकान खोलने की इस नीति से नाखुश हैं। क्या ऐसा करने की कोई जरूरत है? केजरीवाल सरकार पानी के समान वितरण, स्वास्थ्य तथा शिक्षा के क्षेत्र में सुधार और यमुना नदी की सफाई के लिए काम क्यों नहीं करती?’

उन्होंने कहा कि भाजपा के महिला मोर्चा के नेतृत्व वाले अभियान के तहत आने वाले आठ से 10 दिनों में 15 लाख लोगों के हस्ताक्षर लिए जाएंगे। गुप्ता ने कहा कि हस्ताक्षरों की सूची भारत के राष्ट्रपति को सौंपी जाएगी और उनसे दिल्ली सरकार की आबकारी नीति को वापस लेने के लिए हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया जाएगा।

देश-दुनिया के समाचार FaceBook पर पढ़ने के लिए हमारा पेज Like कीजिए, Telagram चैनल से जुड़िए