टाइम्स उच्च शिक्षा प्रभाव रैंकिंग में केआईआईटी विश्व स्तर पर 201+ पर

केआईआईटी
केआईआईटी

वैश्विक रूप से ‘कम असमानताओं’ में 86वें स्थान पर

भुवनेश्वर/दक्षिण भारत। जब दुनिया तकलीफदेह दौर से गुजर रही हो, तब सबसे अच्छा जवाब अपने कार्यों से ही दिया जा सकता है। कलिंगा इंस्टीट्यूट ऑफ इंडस्ट्रियल टेक्नोलॉजी (केआईआईटी), भुवनेश्वर इसी सिद्धांत पर चलते हुए ऐसी उपलब्धि प्राप्त कर रही है जिन्हें बताने के लिए आज किसी प्रवक्ता के शब्दों की जरूरत नहीं है।

केआईआईटी को 21 अप्रैल, 2021 को घोषित टाइम्स हायर एजुकेशन (टीएचई) इंपैक्ट रैंकिंग -2021 में दुनिया के शीर्ष विश्वविद्यालयों में रखा गया है। इससे केआईआईटी द्वारा आजीविका और न्याय संगतता के लिए प्रतिबद्धता को मान्यता मिलती है।

समुदाय-आधारित विश्वविद्यालय और उनके प्रभाव के आधार पर, हर साल टाइम्स हायर एजुकेशन दुनियाभर में उच्च शिक्षा संस्थानों की रैंकिंग करता है। चूंकि केआईआईटी संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास लक्ष्यों के सभी मानदंडों को पूरा कर रहा है, उन्होंने समग्र प्रभाव रैंकिंग में केआईआईटी को 201+ रैंक दिया है। टाइम्स उच्च शिक्षा की प्रभाव रैंकिंग दुनियाभर के विश्वविद्यालयों की सामाजिक जिम्मेदारी का मूल्यांकन करती है।

इसके अलावा, इसे एसडीजी की ‘कम असमानताओं’ में 86वां स्थान दिया गया है। इसके लिए, इसे दुनिया के 100 विश्वविद्यालयों में कम से कम एक एकल पैरामीटर में स्थान दिया गया है। केआईआईटी को ‘लक्ष्यों के लिए साझेदारी में’ 101+ और ‘गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और शांति एवं न्याय व मजबूत संस्थानों’ में प्रत्येक में 201+ रैंक प्राप्त हुई है।

यह इतनी प्रभावशाली रैंक हासिल करने वाला पूर्वी भारत का एकमात्र विश्वविद्यालय है। साल 2020 में केआईआईटी को 501+ में स्थान दिया गया था। टाइम्स उच्च शिक्षा द्वारा ‘वर्कप्लेस ऑफ द ईयर’ श्रेणी में केआईआईटी ‘अवार्ड्स एशिया 2020’ का विजेता भी था।

टाइम्स हायर एजुकेशन इम्पैक्ट रैंकिंग एकमात्र वैश्विक प्रदर्शन तालिकाएं हैं जो संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) के आधार पर विश्वविद्यालयों का आकलन करती हैं। टाइम्स हायर एजुकेशन द्वारा चार व्यापक क्षेत्रों जैसे: अनुसंधान, नेतृत्व, पहुंच और शिक्षण में बहुत व्यापक और संतुलित तुलना की गई थी।

केआईआईटी गुणवत्ता शिक्षण, अनुसंधान, प्रकाशन आदि में प्रभावशाली रैंक के साथ आगे बढ़ रहा है। उल्लेखनीय है कि केआईआईटी अपनी स्थापना के बाद से समर्पण भाव के साथ अपनी सामाजिक जिम्मेदारी निभा रहा है।

केआईआईटी और केआईएसएस के संस्थापक डॉ. अच्युत सामंत ने कहा कि विश्व रैंकिंग में कुछ संस्थानों और विश्वविद्यालयों ने स्थान पाया है, जो राज्य के लिए गर्व की बात है। उन्होंने कहा, ‘हमें खुशी है कि टाइम्स उच्च शिक्षा (टीएचई) की प्रभाव रैंकिंग में केआईआईटी शीर्ष पर है, क्योंकि इसने सामाजिक जिम्मेदारी में उत्कृष्टता बनाए रखने की कोशिश की है।’