लद्दाख से लोकसभा सदस्य जामयांग सेरिंग नामग्याल
लद्दाख से लोकसभा सदस्य जामयांग सेरिंग नामग्याल

लेह/भाषा। लद्दाख से भाजपा सांसद जामयांग सेरिंग नामग्याल की सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे के साथ यहां एक बैठक हुई जिसमें उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि इस केंद्र शासित प्रदेश के लोग भारतीय सेना के साथ खड़े हैं और ‘संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता को उत्पन्न किसी भी खतरे का पूरी ताकत से मुकाबला किया जाएगा।’ यह जानकारी अधिकारियों ने बुधवार को दी।

सेना प्रमुख लद्दाख में हाल में चीनी सैनिकों के साथ हुई हिंसक झड़प के मद्देनजर समग्र स्थिति की समीक्षा के लिए वर्तमान समय में लद्दाख के दो दिवसीय दौरे पर हैं। चीन के सैनिकों के साथ हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे।

जनरल एमएम नरवणे और सांसद के बीच मंगलवार को हुई बैठक में उत्तरी कमान के जनरल आफिसर कमांडिंग इन चीफ लेफ्टिनेंट जनरल वाई के जोशी और लेह स्थित 14वीं कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह भी मौजूद थे।

नामग्याल ने कहा, ‘लद्दाख के लोग शांतिप्रिय होते हैं लेकिन संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता को किसी भी खतरे का उसी ताकत से मुकाबला किया जाएगा। लद्दाख के लोग हमेशा ही भारतीय सेना के साथ खड़े रहेंगे।’

उन्होंने गलवान घाटी में गतिरोध के दौरान चीनी सैनिकों को ‘मुंहतोड़ जवाब’ देने के लिए सेना के प्रति लद्दाख के लोगों की ओर से आभार जताया और कहा, ‘हम हमारे वीर जवानों द्वारा दिए गए सर्वोच्च बलिदान को कभी नहीं भूलेंगे।’

एक प्रवक्ता ने कहा कि सांसद ने बैठक में विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की जिसमें राष्ट्रीय सुरक्षा, नागरिकों और सेना के बीच संबंध, पूर्वी लद्दाख के लिए एक समर्पित कोर की स्थापना और लद्दाख स्काउट में बटालियनों की स्थापना संबंधी मुद्दे शामिल थे।

उन्होंने कहा कि नामग्याल ने साथ ही सीमा आधारभूत ढांचे के विकास, क्षेत्र में स्थानीय नागरिकों, विशेष तौर पर घुमंतू लोगों के मुक्त आवागमन तथा अन्य विकास कार्य किए जाने के बारे में भी चर्चा की।