ममता दीदी को मां गंगा, भगवान श्रीराम इन दोनों नामों से घृणा: मोदी

जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। फोटो स्रोत: भाजपा ट्विटर अकाउंट।
जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। फोटो स्रोत: भाजपा ट्विटर अकाउंट।

गंगारामपुर/दक्षिण भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को पश्चिम बंगाल के गंगारामपुर में भाजपा की चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि सभी चरणों में बंगाल के लोगों ने जिस प्रकार से मतदान किया है, कई दशकों बाद निर्भीक होकर मतदान करने का उन्हें मौका मिला है, वरना हर मतदान गुंडागर्दी के बीच होता था। इसके लिए मैं बंगाल के नागरिकों का सिर झुकाकर अभिनंदन करता हूं।

मोदी ने कहा कि ममता दीदी को मां गंगा, भगवान श्रीराम इन दोनों नामों से घृणा है। दीदी, गंगा के किनारे बसे भारतीयों को गाली देती हैं, उनकी आस्था, खान-पान, भाषा, पहनावे का अपमान करती हैं।

मोदी ने कहा कि बीते 10 सालों में दीदी की सरकार ने पुराने शिल्प में ताला लगाने और युवाओं के पलायन को ही बढ़ावा दिया है। जहां तुष्टीकरण होता है वहां अभाव होता है, भेदभाव होता है, आशा, आकांक्षा का दमन होता है।

मोदी ने कहा कि दीदी की सरकार ने पश्चिम बंगाल के हर युवा बेटे-बेटी की आकांक्षाओं का दमन किया है। दीदी ने भाइपो की आकांक्षाओं के लिए, भाइपों के करियर के लिए, बंगाल के लाखों युवाओं का भविष्य दांव पर लगा दिया।

मोदी ने कहा कि अरे दीदी, ओ दीदी, आपने बंगाल की गरीब जनता को लूटने वाले तोलाबाज़ों के कान मरोड़े होते, अपने सबसे प्रिय भाइपो से उठक-बैठक कराई होती तो, आज ये दिन न देखने पड़ते।

मोदी ने कहा कि 19 मार्च को दीदी ने कहा कि वो मोदी का चेहरा नहीं देखना चाहतीं। फिर दीदी ने देश के प्रधानमंत्री की तुलना लुटेरे, दंगाई, दुर्योधन, दुशासन से कर दी। 20 मार्च को दीदी ने मुझे श्रमिकों का हत्यारा बताया, दंगा करने वाला बताया।

मोदी ने कहा कि 25 मार्च को दीदी ने जो कहा, वो बताने से पहले बंगाल के संस्कारी लोगों से माफी मांगता हूं। दीदी ने जो गाली दी, मैं उसे मजबूरी में दोहरा रहा हूं। 25 मार्च को दीदी ने कहा- तुम … खूनी का राजा, खूनी का जमींदार। तुमने सारे पैसे लूट लिए।

मोदी ने कहा कि 26 मार्च को दीदी बोलीं- देश में सिर्फ मोदी की दाढ़ी बढ़ती जा रही है। मोदी के दिमाग के साथ कुछ दिक्कत है, ऐसा लगता है मोदी का कोई स्क्रू ढीला है। 4 अप्रैल को दीदी इस बात पर भड़क गईं कि बंगाल में बीजेपी की सरकार बनेगी। उन्होंने कहा कि क्या मैं भगवान हूं और सुपरह्यूमन हूं।

12 अप्रैल को दीदी ने कहा- जहां मैं जाता हूं, वहां दंगे होने लगते हैं। 13 अप्रैल को दीदी ने फिर से मुझे सबसे बड़ा झूठा कहा, मंदबुद्धि कहा। ये लिस्ट बहुत लंबी है, मैंने कुछ ही गालियां आपके सामने प्रस्तुत की हैं।

मोदी ने कहा कि दीदी की गालियों से मुझे कोई दिक्कत नहीं है। दीदी, आप मुझे जितना कोसना है कोसिए, जितनी गाली देनी हो दीजिए लेकिन कम से कम बंगाल के कल्चर को तो मत भूलिए। देश की जनता, बंगाल की समृद्ध विरासत, यहां के लोगों की वाणी-वर्तन पर गर्व करती है।

मोदी ने कहा कि पश्चिम बंगाल में दीदी के कराबी ने एससी वर्ग के लिए भिखारी का उपयोग किया है। ये बाबा साहेब आंबेडकर, श्रीश्री हॉरिचन्द ठाकुर, जोगिंद्रनाथ मंडल जैसी पुण्य आत्माओं के जीवन संघर्ष का बहुत बड़ा अपमान है।

मोदी ने कहा कि आप मुझे बताइए, मुझे चुप रहना चाहिए क्या? जनता की आवाज उठानी चाहिए कि नहीं? बहनों की आवाज उठानी चाहिए कि नहीं? नौजवानों की आवाज उठानी चाहिए कि नहीं? लेकिन जब मैं बोलता हूं तो आप ही देखिए कि मुझे क्या-क्या सुनना पड़ता है।

मोदी ने कहा कि दिनाजपुर का ‘कटारी भोग चाल’ और ‘तुलाईपंजी चाल’, यहां की शान है। लेकिन दीदी के राज में धान उगाने वाला कृषक मंडी के लिए परेशान है, भंडारण और कोल्ड स्टोरेज सिंडिकेट से, बिचौलियों से, टोलाबाजों से परेशान है।

मोदी ने कहा कि भाजपा की डबल इंजन सरकार इस क्षेत्र को इंटरनेशनल ट्रेडिंग हब बनाने के लिए, यहां की समृद्ध हेरिटेज के टूरिज्म से जुड़े सामर्थ्य को बल देने के लिए पूरा प्रयास करने वाली है।