2 मई को जा रही दीदी की सरकार, धूमधाम से होनी चाहिए विदाई: शाह

भाजपा की चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह। फोटो स्रोत: भाजपा ट्विटर अकाउंट।
भाजपा की चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह। फोटो स्रोत: भाजपा ट्विटर अकाउंट।

औसग्राम/दक्षिण भारत। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को पश्चिम बंगाल के औसग्राम में भाजपा की चुनावी जनसभा को संबोधित किया।

इस अवसर पर उन्होंने तृणमूल कांग्रेस पर शब्दप्रहार करते हुए कहा कि पूरे बंगाल में घूमते-घूमते मैं आज यहां आया हूं। पूरे बंगाल में एक बात निश्चित है कि 2 मई को दीदी जा रही हैं। 200 से ज्यादा सीटों के साथ बंगाल में भाजपा सरकार आ रही है।

शाह ने कहा कि बंगाल की माताओं-बहनों को कहना चाहता हूं कि 2 मई को भाजपा सरकार बना दो, पूरे बंगाल में केजी से पीजी तक की पढ़ाई के लिए कोई फीस नहीं लगेगी।

शाह ने कहा कि बंगाल में भाजपा सरकार बनते ही हम मतुआ, नामशूद्र समाज के लोगों को सम्मान के साथ भारत का नागरिक बनाएंगे। दीदी को जितना विरोध करना है, वो करें, हम सीएए के तहत शरणार्थियों को भारत की नागरिकता देंगे।

शाह ने कहा कि भतीजा कल्याण में व्यस्त ममता दीदी की विदाई का समय आ गया है। ममता दीदी की विदाई धूमधाम से होनी चाहिए। बड़े नेता की विदाई बड़े मार्जिन से होनी चहिए। भाजपा की सरकार बनाई है तो 200 से ज्यादा सीटों के साथ सरकार बनाइए, तब जाकर दीदी की सम्मान के साथ विदाई होगी।

शाह ने कहा कि मोदीजी दिन-रात गरीबों के भले की चिंता करते हैं। ममता दीदी दिन-रात भतीजे को मुख्यमंत्री बनाने की चिंता करती हैं। आप ही बताइए कि बंगाल में वोट किसे देना चाहिए- भतीजे की चिंता करने वाली ममता दीदी को? या गरीबों की चिंता करने वाले नरेंद्र मोदी को?