नई दिल्ली/भाषाकेंद्रीय जांच एजेंसी (सीबीआई) ने स्वयंभू प्रवचनकर्ता दाती महाराज के खिलाफ अपने आश्रम में रहने वाले के साथ कथित रूप से बलात्कार और अप्राकृतिक यौन संबंध बनाने का मामला दर्ज किया है। दाती महाराज का दक्षिण दिल्ली में एक मंदिर है। एक अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि दिल्ली उच्च न्यायालय के निर्देशों पर सीबीआई मामले की जांच कर रही थी। दक्षिण दिल्ली में फतेहपुर बेरी पुलिस थाने में एक शिष्या की शिकायत पर दाती महाराज, उनके तीन भाइयों और एक महिला के खिलाफ कथित रूप से बलात्कार और अप्राकृतिक यौन संबंध बनाने का मामला दर्ज किया गया। दिल्ली और राजस्थान में अपने आश्रम में शिष्या के साथ बलात्कार के आरोपी दाती महाराज से पुलिस ने २२ जून को पूछताछ की थी। उन्हें दाती मदनलाल के नाम से भी जाना जाता है। आरोपी का दावा था कि उन्हें इस मामले में फंसाया जा रहा है। मुख्य न्यायाधीश राजेन्द्र मेनन और न्यायमूर्ति वी के राव की पीठ ने शिकायतकर्ता महिला की याचिका सीबीआई को हस्तांतरित करने की अनुमति दी थी और कहा था दिल्ली पुलिस जिस तरह मामले की जांच कर रही है उसने जांच को ‘सवालों के घेरे में’’ ला दिया है। केंद्रीय सतर्कता आयोग की अनुशंसा पर सरकार द्वारा सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना से सभी अधिकार वापस ले लेने के मध्यरात्रि के ड्रामे के बाद संभवत: एजेंसी ने यह पहला मामला दर्ज किया है।