जयपुर। राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट ने केन्द्र सरकार द्वारा पुलिस आधुनिकरण हेतु राजस्थान के बजट को कम करने को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है।पायलट ने बुधवार को यहां एक बयान जारी कर कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा देश के सबसे ब़डे राज्य राजस्थान की पुलिस के आधुनिकरण के लिए दी जाने वाली राशि में भारी कटौती कर प्रदेश के हितों की अनदेखी की है। उन्होंने कहा कि पुलिस बे़डे को वर्तमान परिस्थितियों के अनुरूप सशक्त करने के लिए उचित आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है इसके बावजूद केन्द्र की एनडीए सरकार ने वर्ष २०१३-१४ में यूपीए सरकार द्वारा आवंटित ६२.८३ करो़ड रुपयों की तुलना में वर्ष २०१६-१७ के लिए आधी से भी कम राशि ३०.७९ करो़ड रुपए आवंटित की है। उन्होंने कहा कि बजट के कम होने से पुलिस के आधुनिकरण की प्रक्रिया पर विपरीत प्रभाव प़डेगा। उन्होंने प्रदेश में बढते अपराधों के लिए भाजपा सरकार की संवेदनहीनता को जिम्मेदार बताते हुए कहा कि प्रदेश महिला उत्पीड़न में पूरे देश में तीसरे नम्बर पर है और आईपीसी के तहत दर्ज मामलों में एनसीआरटी के अनुसार छठे स्थान पर है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जेल ब्रेक की सर्वाधिक घटनायें हो रही हैं तथा जेल के अन्दर रंगदारी वसूली के भी अनेकों प्रकरण सामने आ रहे हैं।