पटना। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने कहा कि लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार पर सीबीआई के छापे विपक्ष की आवाज दबाने के लिए केंद्र की ‘प्रतिशोध की भावना‘ से की गई कार्रवाई है। राजद के बिहार इकाई के अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे ने कहा कि जब से लालू प्रसाद ने पटना में २७ अगस्त को ‘देश बचाओ, भाजपा हटाओ रैली‘ करने की घोषणा की है तब से ही केंद्र ने उनके चारों ओर फंदा कसना शुरू कर दिया है। पुर्वे ने कहा, सीबीआई की कार्रवाई केंद्र सरकार के इशारे पर की जा रही है। यह केंद्र सरकार की उन लोगों के खिलाफ प्रतिशोध की भावना से की गई कार्रवाई है जो लोकताांकि मूल्यों की रक्षा करने के लिए बोलते हैं। उन्होंने कहा कि पटना में २७ अगस्त को राजद की प्रस्तावित रैली निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार होगी। राजद के बिहार इकाई के मुख्य प्रवक्ता शक्ति सिंह यादव ने उनका समर्थन किया और उन्होंने कहा कि सीबीआई की कार्रवाई विपक्षी दलों के खिलाफ केंद्र सरकार द्वारा केंद्रीय एजेंसियों का ‘खुले तौर पर किया गया दुरुपयोग‘ है।