कांग्रेस की पूर्व पार्षद इशरत जहां
कांग्रेस की पूर्व पार्षद इशरत जहां

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। कांग्रेस की एक पूर्व पार्षद पर दिल्ली में दंगा भड़काने के मामले में पुलिस ने शिकंजा कसा है। जानकारी के अनुसार, पूर्व निगम पार्षद इशरत जहां पर राष्ट्रीय राजधानी में दंगा भड़काने का आरोप है, जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है।

अदालत ने इशरत को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा है। बताया गया है कि इशरत पिछले करीब 50 दिनों से सीएए विरोधी प्रदर्शनों में भाग ले रही थी। सोमवार और मंगलवार को जब उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसा भड़की तब शाहदरा का जगतपुरी इलाका भी इसकी चपेट में आ गया। इशरत जहां पर आरोप है कि इस दौरान उसने दंगे भड़काने की कोशिश की।

इशरत जहां पेशे से वकील भी हैं। उन्होंने अदालत में अपनी जमानत की याचिका लगाई थी, जो खारिज हो गई। पुलिस ने उन्हें हिरासत में लिया, फिर मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। उत्तर-पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद, मौजपुर, बाबरपुर, चांदबाग, शिव विहार, भजनपुरा, यमुना विहार इलाकों में हिंसा में कम से कम 42 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 200 से अधिक लोग घायल हो गए।

हिंसा में संपत्ति को काफी नुकसान पहुंचा है। उग्र भीड़ ने मकानों, दुकानों, वाहनों, एक पेट्रोल पंप को फूंक दिया और स्थानीय लोगों तथा पुलिस कर्मियों पर पथराव किया था।