logo
भारत में कोरोना की दूसरी लहर का सबसे बुरा दौर बीतने का अनुमान, टीकाकरण में जल्द तेजी: रिपोर्ट
 
भारत में कोरोना की दूसरी लहर का सबसे बुरा दौर बीतने का अनुमान, टीकाकरण में जल्द तेजी: रिपोर्ट
प्रतीकात्मक चित्र। स्रोत: PixaBay

मुंबई/दक्षिण भारत। जापान की एक ब्रोकरेज फर्म की मानें तो भारत में जारी कोरोना महामारी की दूसरी लहर बीतने का अनुमान है। उसके मुताबिक, यह लहर आर्थिक नहीं, मानवीय संकट है। ब्रोकरेज फर्म नोमुरा ने अपने आकलन में कहा कि अप्रैल-जून तिमाही के दौरान वृद्धि पर असर पिछले साल की तुलना में बहुत कम होगा।

नोमुरा ने अपने अध्ययन के आधार पर जो कहा, वह आर्थिक मोर्चे के लिए कुछ राहत कहा जा सकता है, हालांकि महामारी मानवीय संकट बनी हुई है जिससे मृतकों की संख्या भी बढ़ रही है। नोमुरा ने बताया कि मार्च तिमाही की तुलना में जून तिमाही में अर्थव्यवस्था में संकुचन सिर्फ 3.8 प्रतिशत होगा।

इस रिपोर्ट में लॉकडाउन को अधिक बारीक बताया गया है, जिसमें उपभोक्ताओं तथा कारोबारों दोनों का ध्यान रखा गया है। इसमें टीकाकरण की मौजूदा रफ्तार को जनसंख्या की तुलना में धीमी बताया गया है, लेकिन यह उम्मीद जताई गई है कि जून के बाद इसमें तेजी आएगी।

नोमुरा के आकलन के अनुसार, तीसरी तिमाही में घरेलू खपत में बढ़ोतरी होगी। वहीं, सेहत के मोर्चे पर भी उत्साहजनक खबर होगी, चूंकि 2021 के आखिर तक आधी आबादी का टीकाकरण हो जाएगा। फर्म ने वित्त वर्ष 2021-22 के लिए 10.8 प्रतिशत जीडीपी वृद्धि के अनुमान को कायम रखा है, जिसे अर्थव्यवस्था के लिए काफी सकारात्मक माना जा सकता है।