बैंक.. सांकेतिक चित्र
बैंक.. सांकेतिक चित्र

नई दिल्ली/भाषा। बैंक शाखाओं के बंद होने की अफवाहों को नकारते हुए वित्तीय सेवा सचिव देबाशीष पांडा ने शुक्रवार को कहा कि ग्राहक सेवा शाखाएं लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सेवाओं के लिए प्रतिबद्ध हैं और नकदी की कोई कमी नहीं है।

वित्त मंत्रालय के तहत आने वाले वित्तीय सेवा विभाग ने लोगों से अनुरोध किया कि वे ग्राहक सेवाएं मुहैया कराने वाली बैंक शाखाओं के बंद होने की अफवाहों पर विश्वास न करें।

पांडा ने ट्वीट किया, ‘ग्राहक सेवा देने वाली बैंक शाखाएं चालू हैं और वे सेवाएं प्रदान करना जारी रखेंगी। शाखाओं और एटीएम में पर्याप्त नकदी है। शाखा बंद होने की अफवाहों पर भरोसा न करें! हालांकि, ग्राहकों से बड़ी संख्या में बैंक शाखाओं में आने से बचने का अनुरोध किया गया है।

बैंक शाखाओं के कामकाज को सुचारू बनाने के लिए कई बैंक अपनी शाखाओं के कामकाज को तर्क संगत बना रहे हैं। देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक ने शुक्रवार को खुलने वाली अपनी शाखाओं के लिए समयसारिणी बनाई है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को आश्वासन दिया था कि कोरोना वायरस महामारी के चलते गरीबों को होने वाली कठिनाइयों को कम करने के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत दी जाने वाले मदद सीधे उनके बैंक खाते में पहुंचाई जाएगी।

पांडा ने कहा था कि जहां तक धन हस्तांतरण आदि का सवाल है, जरूरी इंतजाम किए जाएंगे। भारतीय बैंक संघ (आईबीए) ने कर्मचारियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए बैंकों के प्रमुखों से कहा था कि वे स्थानीय राज्य सरकार के साथ बातचीत कर कुछ चुनिंदा स्थानों पर ही अपनी शाखाओं को खोलें।