logo
प्रधानमंत्री ने समर्पित भाव से कर्नाटक के हित में काम करने को कहा: बोम्मई
बोम्मई ने मुख्यमंत्री पद की कमान संभालने के बाद 100 दिनों के भीतर किए गए प्रशासनिक कामकाज के सिलसिले में उठाए गए कदमों से अवगत कराया
 
दिल्ली के दो दिवसीय दौरे पर आए बोम्मई की प्रधानमंत्री से यह मुलाकात तकरीबन आधे घंटे तक चली

नई दिल्ली/भाषा। कर्नाटक में बिटकॉइन घोटाले को लेकर गरमाई राजनीति के बीच राज्य के मुख्यमंत्री बसवराज एस बोम्मई ने बृहस्पतिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हुई मुलाकात के बारे में बताया कि प्रधानमंत्री ने उन्हें ‘बगैर किसी चिंता' के राज्य की जनता के हित में समर्पण भाव व निर्भिकता से काम करते रहने को कहा है।

दिल्ली के दो दिवसीय दौरे पर आए बोम्मई की प्रधानमंत्री से यह मुलाकात लोक कल्याण मार्ग स्थित उनके आधिकारिक आवास पर तकरीबन आधे घंटे तक चली। बोम्मई ने राज्य के मुख्यमंत्री की कमान संभालने के बाद 100 दिनों के भीतर किए गए प्रशासनिक कामकाज के सिलसिले में उठाए गए कदमों से उन्हें अवगत कराया।

यह पूछे जाने पर कि क्या बिटकॉइन के मामले को लेकर भी प्रधानमंत्री से उनकी कोई चर्चा हुई, बोम्मई ने बताया, ‘मैंने इस बारे में जानकारी उनसे साझा करने की कोशिश की। उन्होंने (मोदी) कहा कि चिंता की कोई बात नहीं है ... उन्होंने मुझे समर्पण भाव और निर्भिकता से जनता के हित में काम करने को कहा, बाकी सबकुछ ठीक हो जाएगा।’

बिटकॉइन, भारत सहित कुछ कुछ देशों में वैध मुद्रा नहीं है। हाल ही बिटकॉइन घोटाले के आरोपों से कर्नाटक की राजनीति गरमाई हुई है।

अधिकारियों द्वारा बेंगलूरु शहर के एक हैकर श्रीकृष्ण उर्फ श्रीकी से नौ करोड़ रुपए के बिटकॉइन जब्त किए जाने के बाद विपक्षी कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि इसमें राजनीतिक रूप से प्रभावशाली लोग शामिल हैं। श्रीकी पर सरकारी पोर्टलों को हैक करने और मादक पदार्थ प्राप्त करने के लिए बिटकॉइन के माध्यम से भुगतान करने का आरोप है।

कांग्रेस नेता प्रियांक खड़गे ने बुधवार को दावा किया कि बिटकॉइन घोटाले के चलते मुख्यमंत्री बोम्मई को अपनी कुर्सी गंवानी पड़ेगी और वर्ष 2008-13 की तरह ही इस बार भी भाजपा सरकार को तीसरा मुख्यमंत्री देखना पड़ेगा। कांग्रेस ने राज्य सरकार पर इस मामले को रफा-दफा करने का भी आरोप लगाया है।

देश-दुनिया के समाचार FaceBook पर पढ़ने के लिए हमारा पेज Like कीजिए, Telagram चैनल से जुड़िए