मोदी ने पीएसएलवी सी-51 के जरिए ब्राजील के अमेजोनिया-1 उपग्रह के सफल प्रक्षेपण पर इसरो को दी बधाई

फोटो स्रोत: इसरो ट्विटर अकाउंट।
फोटो स्रोत: इसरो ट्विटर अकाउंट।

नई दिल्ली/भाषा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रथम समर्पित वाणिज्यिक मिशन पीएसएलवी-सी 51/अमेजोनिया-1 की सफलता पर ‘न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड’ और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) को रविवार को बधाई दी। उन्होंने इसे देश में अंतरिक्ष के क्षेत्र में सुधारों के नए युग की शुरुआत बताया।

प्रधानमंत्री ने ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो को भी इसके लिए बधाई दी और कहा कि यह दोनों देशों के बीच अंतरिक्ष के क्षेत्र में सहयोग की दिशा में एक ऐतिहासिक क्षण है।

मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड (एनसिल) और इसरो को प्रथम समर्पित वाणिज्यिक मिशन पीएसएलवी (ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान) सी-51 के जरिए ब्राजील के अमेजोनिया-1 के सफल प्रक्षेपण पर बधाई। यह देश में अंतरिक्ष के क्षेत्र में सुधारों के एक नए युग की शुरुआत है।’

उन्होंने कहा कि जिन 18 अन्य उपग्रहों का सफल प्रक्षेपण हुआ है, उनमें चार उपग्रह इसरो के भारतीय राष्ट्रीय अंतरिक्ष संवर्धन एवं प्राधिकरण केंद्र के हैं, जो देश के युवाओं के नवोन्मेष और जोश को प्रदर्शित करते हैं।

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘पीएसएलवी-सी51 द्वारा ब्राजील के अमेजोनिया-1 के सफल प्रक्षेपण पर राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो को बधाई। यह अंतरिक्ष क्षेत्र में हमारे सहयोग के क्षेत्र में ऐतिहासिक क्षण है। मैं ब्राजील के वैज्ञानिकों को बधाई देता हूं।’

उल्लेखनीय है कि आज भारत के पीएसएलवी सी-51 के जरिए ब्राजील के अमेजोनिया-1 और 18 अन्य उपग्रहों का श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष केंद्र से सफल प्रक्षेपण किया गया। यह इसरो का इस साल का पहला अभियान है।

पीएसएलवी-सी51, सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के प्रथम प्रक्षेपण स्थल से पूर्वाह्न करीब 10 बजकर 24 मिनट पर रवाना हुआ और उसने सबसे पहले तथा करीब 17 मिनट बाद प्राथमिक पेलोड अमेजोनिया-1 को कक्षा में स्थापित किया।

न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड, इसरो की वाणिज्यिक इकाई है। पीएसएलवी सी51/अमेजोनिया-1 एनसिल का प्रथम समर्पित वाणिज्यिक मिशन है।