प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

भुवनेश्वर/दक्षिण भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को ओडिशा के संबलपुर स्थित भारतीय प्रबंधन संस्थान (आईआईएम) के स्थायी परिसर की आधारशिला रखी। वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से आयोजित इस समारोह को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि आज आईआईएम कैंपस के शिलान्यास के साथ ही ओडिशा के युवा सामर्थ्य को मजबूती देने वाली एक नई शिला भी रखी गई है। आईआईएम का यह स्थायी कैंपस ओडिशा की महान संस्कृति और संसाधनों की पहचान के साथ ओडिशा को मैंनेजमेंट जगत में नई पहचान देने वाला है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बीते दशकों में एक ट्रेंड देश ने देखा, बाहर बने मल्टी नेशनल बड़ी संख्या में आए और इसी धरती में आगे भी बढ़े। ये दशक और ये सदी भारत में नए-नए मल्टीनेशनल्स के निर्माण के हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश के नए क्षेत्रों में नए अनुभव लेकर निकल रहे मैंनेजमेंट एक्सपर्ट भारत को नई ऊंचाई पर ले जाने में बड़ी भूमिका निभाएंगे। इस साल भारत ने कोविड संकट के बावजूद पिछले सालों की तुलना में ज्यादा यूनिकॉर्न दिए हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जब आपमें से अनेक साथी संबलपुरी टेक्सटाइल और कटक की फिलिगिरी कारीगरी को ग्लोबल पहचान दिलाने में अपने कौशल का इस्तेमाल करेंगे, यहां के टूरिज्म को बढ़ाने के लिए काम करेंगे, तो आत्मनिर्भर भारत अभियान के साथ ही ओडिशा के विकास को भी नई गति मिलेगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि वर्क फ्रॉम एनीवेयर के कॉन्सेप्ट से पूरी दुनिया ग्लोबल विलेज से ग्लोबल वर्कप्लेस में बदल गई है। भारत ने भी इसके लिए हर जरूरी रिफॉर्म्स बीते कुछ महीनों में तेजी से किए हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि स्थायी समाधान देने के नीयत का नतीजा है कि आज देश में 28 करोड़ से ज्यादा गैस कनेक्शन हैं। साल 2014 से पहले देश में 14 करोड़ गैस कनेक्शन थे। हमने छह वर्षों में 14 करोड़ से ज्यादा गैस कनेक्शन दिए हैं।