आत्मविश्वास के साथ फैसले ले रहा और उन पर तेजी से अमल भी कर रहा भारत: मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। फोटो स्रोत: PixaBay
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। फोटो स्रोत: PixaBay

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए आयोजित एक कार्यक्रम में भूमि पूजन कर अहमदाबाद मेट्रो परियोजना के दूसरे चरण और सूरत मेट्रो रेल परियोजना की आधारशिला रखी।

इस अवसर पर उन्होंने कहा कि उत्तरायण की शुरुआत में आज अहमदाबाद और सूरत को बहुत ही अहम उपहार मिल रहा है। कल ही केवड़िया के नए रेल मार्ग और नई ट्रेनों की शुरुआत हुई है। अहमदाबाद से भी आधुनिक जन शताब्दी एक्सप्रेस अब केवड़िया तक जाएगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज अहमदाबाद में 17 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा के इंफ्रास्ट्रक्चर का काम शुरू हो रहा है। यह दिखाता है कि कोरोना के इस काल में भी नए इंफ्रास्ट्रक्चर के निर्माण को लेकर देश के प्रयास लगातार बढ़ रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि 2014 से पहले के 10-12 वर्ष में सिर्फ 225 किमी मेट्रो लाइन ऑपरेशनल हुई थी। वहीं बीते छह वर्षों में 450 किमी से ज्यादा मेट्रो नेटवर्क चालू हो चुका है। अहमदाबाद के बाद सूरत गुजरात का दूसरा बड़ा शहर है जो मेट्रो जैसे आधुनिक पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम से जुड़ेगा। सूरत में मेट्रो नेटवर्क एक प्रकार से पूरे शहर के महत्वपूर्ण व्यापारी केंद्र को आपस में कनेक्ट करेगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज हम शहरों के ट्रांसपोर्टेशन को एक इंटीग्रेटेड सिस्टम के तौर पर विकसित कर रहे हैं। यानी बस, मेट्रो, रेल सब अपने अपने हिसाब से नहीं दौड़ें, बल्कि एक सामूहिक व्यवस्था के तौर पर काम करें, एक दूसरे के पूरक बनें।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज सूरत आबादी के लिहाज से एक तरफ देश का आठवां बड़ा शहर है, लेकिन दुनिया का चौथा सबसे विकसित होता शहर भी है। दुनिया के हर 10 हीरों में से 9 सूरत में तराशे जाते हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि गुजरात के शहरों के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में भी बीते वर्षों में अभूतपूर्व विकास हुआ है। विशेष रूप से गांव में सड़क, बिजली और पानी की स्थिति में बीते दो दशकों में जो सुधार आया है। वो गुजरात की विकास यात्रा का बहुत अहम अध्याय है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बीते छह वर्षों में देश में स्वास्थ सेवाओं से जुड़ी योजनाएं शुरू हुई हैं उनका भी लाभ गुजरात को बहुत व्यापक रूप से मिल रहा है। आयुष्मान भारत योजना के तहत गुजरात के 21 लाख लोगों को मुफ्त इलाज मिला है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हममें से अधिकांश ने वो दौर देखा है जब गुजरात के गांवों तक ट्रेन और टैंकरो से पानी पहुंचाना पड़ता था। अब गुजरात के हर गांव तक पानी पहुंच चुका है। इतना ही नहीं, अब करीब 80 प्रतिशत घरों में नल से जल पहुंच रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत राज्य में 10 लाख नए पानी के कनेक्शन दिए गए हैं। बहुत जल्द गुजरात के हर घर तक नल से जल पहुंचने वाला है। सिंचाई के लिए भी आज गुजरात के उन क्षेत्रों तक पानी पहुंचा है, जहां कभी सिंचाई की सुविधा असंभव मानी जाती थी। सरदार सरोवर बांध हो, सोनी योजना हो, वॉटर ग्रिडस का नेटवर्क हो। गुजरात के सूखाग्रस्त क्षेत्रों को हरित करने के लिए व्यापक काम किया गया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज दुनिया की सबसे बड़ी प्रतिमा भारत में है। सबसे बड़ा एफोर्डेबल हाउसिंग प्रोग्राम भारत में चल रहा है। सबसे बड़ा हेल्थ इंश्योरेंस प्रोग्राम भारत में चल रहा है। छह लाख गांवों को तेज इंटरनेट से जोड़ने का कार्य भी भारत में चल रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज 17,000 करोड़ रुपए से ज्यादा के इंफ्रास्ट्रक्चर का काम शुरू हो रहा है। बीते कुछ दिनों में ही देशभर में हजारों करोड़ रुपए के इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट का या तो लोकार्पण किया गया है या फिर नए प्रोजेक्ट्स पर काम शुरू हुआ है।

भारत आत्मविश्वास के साथ फैसले ले रहा है और उन पर तेजी से अमल भी कर रहा है। आज भारत सिर्फ बड़ा ही नहीं कर रहा है, बल्कि बेहतर भी कर रहा है। कोरोना के विरुद्ध दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान भी भारत में ही शुरू हुआ है।