भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा

हायाघाट/दक्षिण भारत। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने गुरुवार को बिहार के हायाघाट में जनसभा को संबोधित करते हुए विपक्ष पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि यह चुनाव सिर्फ राजग प्रत्याशी को जिताने का ही नहीं, बल्कि बिहार के भविष्य का चुनाव है। हमें तय करना है कि राज्य को किस ओर ले जाना है। एक तरफ विकास करने वाले लोग हैं और दूसरी ओर वो लोग हैं, जिन्होंने बिहार को विनाश की ओर ले जाने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विकास का ऐसा मंत्र दिया है कि अब मजबूरी में महागठबंधन को भी विकास की बात करनी पड़ रही है, अन्यथा ये विनाश की ओर ले जाने वाले लोग हैं। आज ये रोजगार देने की बात कर रहे हैं, लालूजी के राज में लाखों लोग बिहार से पलायन कर गए, उसका जवाब कौन देगा?

नड्डा ने कहा कि हम अपनी सरकार के विकास कार्यों का हिसाब इसलिए दे रहे हैं, क्योंकि हम रिपोर्ट कार्ड देने की ताकत रखते हैं। प्रधानमंत्री मोदी वो नेता हैं- जो कहते हैं, वो करके दिखाते हैं।

नड्डा ने कहा कि देश का 80 प्रतिशत मखाना बिहार में होता है और उसमें से भी 90 प्रतिशत मिथिलांचल के छह जिलों में होता है। इसकी फैक्टरी लगेगी और इसकी ब्रांडिंग होगी। उसके बाद मिथिला नौकरी नहीं मांगेगा बल्कि नौकरी देने वाला बनेगा।

नड्डा ने कहा कि उजाला योजना के अंतर्गत देश में 37 करोड़ एलईडी बल्ब बांटे गए, जिसमें से अकेले बिहार में 1 करोड़ 95 लाख एलईडी बल्ब बांटे गए। लालटेन युग से एलईडी युग में ले जाने का काम प्रधानमंत्री मोदी ने किया है।

नड्डा ने कहा कि कुछ लोग सवाल उठाते हैं कि बिहार में राम जन्मभूमि की बात क्यों करते हो। सीता माता की भूमि पर राम जन्मभूमि की बात नहीं करेंगे, तो कहां करेंगे? मोदीजी के दोबारा प्रधानमंत्री बनने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने राम जन्मभूमि के पक्ष में फैसला दिया। अब वहां भव्य राम मंदिर बन रहा है।

नड्डा ने कहा कि जंगलराज में बिहार में रंगदारी, रंगबाजी, लूट-खसोट होती थी। लालू के राज में शाहबुद्दीन को संरक्षण मिलता था। राजद ने राज्य में अराजकता फैलाई। अपने कारनामों के लिए इन्हें बिहार की जनता से माफी मांगनी चाहिए।

नड्डा ने कहा कि अब यह राजद, माले से मिल गया है जिसका विचार ही विध्वंस का है। इनके साथ राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी और जुड़ गए हैं, जिनको ये ही पता नहीं चलता कि वो मोदी का विरोध करते-करते देश का ही विरोध करने लग गए।

नड्डा ने कहा कि अब बिहार लालटेन युग से निकलकर एलईडी युग में जा रहा है। बाहुबल से निकलकर विकास बल की ओर जा रहा है। लूटराज से निकलकर डीबीटी की ओर जा रहा है।