राष्ट्रपति से तोहफे में रेसिंग साइकिल पाकर रियाज़ बहुत उत्साहित है।
राष्ट्रपति से तोहफे में रेसिंग साइकिल पाकर रियाज़ बहुत उत्साहित है।

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शुक्रवार को एक स्कूली छात्र रियाज़ को तोहफे में रेसिंग साइकिल दी। रियाज़ एक उत्कृष्ट साइक्लिस्ट बनना चाहता है। राष्ट्रपति भवन द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, राष्ट्रपति ने शुभकामनाएं दी हैं कि रियाज़ एक अंतरराष्ट्रीय साइक्लिंग चैंपियन बने और कड़ी मेहनत से अपने सपने साकार करे।

एक ट्वीट में, राष्ट्रपति ने कहा कि ईद-उल-अज़हा से एक दिन पहले रियाज़ को जो साइकिल दी गई, वह ईदी के रूप में है, इस त्योहार की सच्ची भावना के तौर पर, जब बड़ों द्वारा अपने से छोटों को तोहफे दिए जाते हैं।

राष्ट्रपति ने उसे शुभकामनाएं देते हुए कहा कि उसकी कहानी देश के युवाओं के लिए अनुकरण योग्य होनी चाहिए जो अपने समर्पण, कड़ी मेहनत, साहस और ईमानदारी के बल पर राष्ट्र निर्माण के लिए आगे आएं।

रियाज़ की कहानी उन युवाओं के लिए काफी शिक्षाप्रद है, जो अभावग्रस्त पृष्ठभूमि से आते हैं और अपने जीवन में बड़े सपने देखते हैं। दिल्ली के आनंद विहार स्थित सर्वोदय बाल विद्यालय में कक्षा नौ का छात्र रियाज़ मूल रूप से बिहार के मधुबनी जिले से है।

उनके माता-पिता, दो बहनें और एक भाई मधुबनी में रहते हैं, जबकि रियाज़ गाजियाबाद के महाराजपुर में किराए के मकान में रहता है। उसके पिता रसोइया हैं जिनकी आय बहुत कम है। इसलिए रियाज़ गाजियाबाद के एक भोजनालय में बर्तन साफ करता है।

साइकिल चलाना रियाज़ का जुनून है। वह पढ़ाई और काम के बाद कड़ा अभ्यास करता है। साल 2017 में उसने दिल्ली स्टेट साइक्लिंग चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता था। उसने गुवाहाटी में एक स्कूल गेम्स कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्तर पर चौथी रैंक हासिल की थी।

अब तक की अपनी उपलब्धियों से उत्साहित रियाज़ बड़े सपने देखते हुए प्रशिक्षक प्रमोद शर्मा से दिल्ली के इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहा है। अब तक उसे उधार की साइकिल पर निर्भर रहना पड़ता था, लेकिन राष्ट्रपति से तोहफे में शानदार साइकिल पाकर वह बहुत उत्साहित है। राष्ट्रपति को रियाज़ के बारे में मीडिया रिपोर्टों से पता चला था।