प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को संसद सदस्यों के लिए डॉ. बीडी मार्ग पर बनाए गए बहुमंजिला फ्लैटों का उद्घाटन किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा, दिल्ली में जनप्रतिनिधियों के लिए आवास की इस नई सुविधा के लिए आप सभी को बधाई। आज हमारे लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरलाजी की जन्मदिन भी है। उन्हें जन्मदिन की बहुत-बहुत शुभकामनाएं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कई इमारतों का निर्माण इस सरकार के दौरान शुरू हुआ और तय समय से पहले समाप्त भी हुआ। अटलजी के समय जिस अंबेडकर नेशनल मेमोरियल की चर्चा शुरू हुई थी, उसका निर्माण इसी सरकार में हुआ। 23 वर्षों के लंबे इंतजार के बाद डॉ. अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर का निर्माण इसी सरकार में हुआ।

प्रधानमंत्री ने कहा कि दशकों से, देश में एक युद्ध स्मारक की चर्चा थी। हमारे बहादुर योद्धा लंबे समय से इसकी मांग कर रहे थे। हमने इसे इंडिया गेट के पास उन बहादुरों की याद में बनवाया है, जिन्होंने अपना जीवन लगा दिया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सेंट्रल इन्फॉर्मेशन कमीशन की नई बिल्डिंग का निर्माण इसी सरकार में हुआ। हमारे देश में हजारों पुलिसकर्मियों ने कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए अपना जीवन दिया है। उनकी याद में भी नेशनल पुलिस मेमोरियल का निर्माण इसी सरकार में हुआ।

प्रधानमंत्री ने कहा कि नए नियमों और कई एहतियाती उपायों के साथ, महामारी के दौरान भी संसद की कार्यवाही जारी रही। दोनों सदनों ने सप्ताहांत में भी बारी-बारी से काम किया। हर पार्टी ने मानसून सत्र में सदन की सुचारू कार्यवाही में भी मदद की।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सदन की जो ऊर्जा बढ़ी है इसके पीछे एक और कारण है। इसकी भी शुरुआत एक तरह से 2014 से हुई है। तब देश एक नई दिशा की तरह बढ़ना चाहता था, बदलाव चाहता था। इसलिए तब देश की संसद में 300 से ज्यादा सांसद पहली बार चुनकर आए थे। मैं भी पहली बार आने वालों में से एक था।

प्रधानमंत्री ने कहा कि संसद की इस प्राडक्टीविटी में आप सभी सांसदों ने प्रॉडक्ट्स और प्रोसेस दोनों का ही ध्यान रखा है। हमारी लोकसभा और राज्यसभा, दोनों के ही सांसदों ने इस दिशा में एक नई ऊंचाई हासिल की है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि 16वीं लोकसभा में 60 प्रतिशत ऐसे बिल रहे हैं जिन्हें पास करने के लिए औसतन दो-तीन घंटे तक की डीबेट हुई है। हमने पिछली लोकसभा से ज्यादा बिल पास किए, लेकिन पहले से ज्यादा डिबेट की है। यह दिखाता है कि हमने प्रॉडक्ट्स भी फोकस किया है और प्रोसेस को भी निखारा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सिर्फ बीते एक डेढ़ वर्ष की बात करें तो देश ने किसानों को बिचौलियों के चंगुल से आजाद कराने का काम किया है, ऐतिहासिक लेबर रिफॉर्म्स किए हैं, कामगारों के हितों को सुरक्षित किया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश ने जम्मू—कश्मीर के लोगों को भी विकास की मुख्यधारा और अनेक कानूनों से जोड़ने का काम किया है। पहली बार जम्मू—कश्मीर में अब भ्रष्टाचार के खिलाफ काम हो सके ऐसे कानून बन पाए हैं।

हमारे यहां कहा गया है कि- क्रिया सिद्धिः सत्त्वे भवति महतां नोपकरणे। अर्थात् कर्म की सिद्धि हमारे सत्य संकल्प पर हमारी नीयत से ही होती है। आज हमारे पास साधन भी है, और दृढ़ संकल्प भी है।