बंगाल में राहुल गांधी का कोई चुनावी कार्यक्रम नहीं था, रद्द करने के फैसले से कोई फर्क नहीं पड़ेगा: विजयवर्गीय

भाजपा के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय। फोटो स्रोतः फेसबुक पेज।
भाजपा के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय। फोटो स्रोतः फेसबुक पेज।

इंदौर/दक्षिण भारत। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष एवं वायनाड सांसद राहुल गांधी द्वारा कोरोना महामारी के कारण पश्चिम बंगाल में अपनी चुनावी रैलियां रद्द किए जाने पर भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि राहुल का ऐसा कोई चुनावी कार्यक्रम ही नहीं था।

विजयवर्गीय ने कहा, ‘राहुल गांधी ने बोला कि वे कोरोना संकट को देखते हुए पश्चिम बंगाल में अब कोई चुनावी सभा नहीं करेंगे। वे पहले यह तो बताएं कि राज्य में उनकी आगामी चुनावी सभाओं का क्या कार्यक्रम था?’

विजयवर्गीय ने दावा किया कि राहुल गांधी का पश्चिम बंगाल में कोई आगामी कार्यक्रम नहीं था। उनके लिए सिर्फ दो जिलों में सभा करने के बाद राज्य में कोई काम नहीं था।

विजयवर्गीय ने कहा कि पूरी कांग्रेस के भी पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव करने या इसे बंद करने से यहां कोई फर्क नहीं पड़ेगा। उन्होंने दावा किया कि बंगाल में कांग्रेस चुनावी मुकाबले में कहीं नहीं है। उनके अनुसार, यहां कांग्रेस का सियासी वजूद सिर्फ मालदा और मुर्शिदाबाद तक सीमित है।

उल्लेखनीय है कि राहुल गांधी ने 14 अप्रैल को प. बंगाल में चुनावी अभियान का आगाज किया और उत्तर दिनाजपुर व दार्जीलिंग जिलों में रैलियां कीं। जब इस राज्य में कोरोना के मामलों में उछाल दिखाई दिया तो राहुल ने ट्वीट किया कि वे यहां आगामी सभी चुनावी रैलियां रद्द कर रहे हैं।

कैलाश विजयवर्गीय ने राहुल के बयान पर टिप्पणी करते हुए भरोसा जताया कि बंगाल विधानसभा चुनाव के बाद यहां भाजपा की सरकार बनेगी। उन्होंने कहा, ‘हमारी तैयारी एकदम पक्की है।’