सचिन पायलट
सचिन पायलट

जयपुर/भाषा। राजस्थान की राजनीति में हंगामा मचा देने वाले कथित ऑडियो क्लिप में जिन कांग्रेस विधायकों की आवाज होने का संदेह है, उन सभी के बयान दर्ज करने के लिए प्रदेश पुलिस के विशेष कार्यबल (एसओजी) की एक टीम शुक्रवार शाम को हरियाणा के मानेसर पहुंची।

टीम इस कथित ऑडियो क्लिप की सत्यता की जांच करने के लिए उनके बयान दर्ज करेगी जिनकी आवाज इस क्लिप में सुनाई दे रही है। ऑडियो के फर्जी होने का दावा किए जाने के बाद पुलिस उसकी सत्यता की जांच करने और विधायक का बयान दर्ज करने के लिए मानेसर गई है। एक रिपोर्ट के अनुसार, हरियाणा पुलिस ने एसओजी टीम को रिसॉर्ट में प्रवेश करने से रोका है।

मामले पर ​ट्वीट करते हुए नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने कहा, ‘राजस्थान सरकार सत्ता बचाने के लिए एसओजी का दुरुपयोग कर रही है, जबकि नेताओ पर हमले, धमकियों से जुड़े प्रकरण पुलिस थानों में धूल फांक रहे हैं। जनता के काम हो नहीं रहे हैं और ब्यरोक्रेट्स हावी हैं। सरकार होटलों में कैद है!’

इससे पहले, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एसओजी) अशोक राठौड़ ने बताया, ‘एसओजी की एक टीम मानेसर जाने के लिए तैयार है। टीम इस कथित ऑडियो क्लिप में जिन लोगों की आवाज आई है, उनके बयान लेगी क्योंकि कई लोग इसके फर्जी होने का दावा कर रहे हैं।’

उल्लेखनीय है कि सचिन पायलट के समर्थक कांग्रेस के कई बागी विधायक हरियाणा के मानेसर में एक रिसॉर्ट में रुके हुए हैं। राठौड़ ने कहा कि एसओजी आवाज के नमूने से मिलान करने के लिए ‘स्पेक्ट्रोग्राफी टेस्ट’ के लिए भी अदालत में अर्जी दाखिल करने वाली है।

इस कथित ऑडियो क्लिप में बागी विधायकों में से कुछ की आवाज है जो सरकार से जुड़ी कुछ बातों पर चर्चा कर रहे हैं।