logo
सतीश पूनिया के जन्मदिवस पर रक्तदान का रिकॉर्ड
 

आमेर। जननेता डॉ सतीश पूनिया के 53वें जन्म दिवस पर आमेर में कमल संगम समारोह मनाया गया जिसमें स्नेह मिलन, रक्तदान आदि का आयोजन हुआ। इस कार्यक्रम में राज्य के विभिन्न हिस्सों से आए सैंक़डों कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। भाजपा नेता पूनिया जननेता के रूप में प्रसिद्ध हैं और जन्म दिवस समारोह में करोली, सवाईमाधोपुर, टोंक,सीकर, झुंझुनूं, चूरू, हनुमान ग़ढ, गंगानगर, पाली, कोटा, जोधपुर, अलवर, दिल्ली, हरियाणा, कोटपुतली, विराटनगर से हजारों कार्यकर्ता पूनिया का अभिनंदन करने पहुंचे। इसके अतिरिक्त भाजपा के आमेर शहर, जालसू, मानपुरा, रामपुरा, अचरोल मंडल के कार्यकर्ता रैली के साथ उपस्थित हुए। महिला मोर्चा की पदाधिकारियों,रेणु शर्मा, किरण, सुशीला, अंजली गौतम और प्रधान बादाम देवी ने लगभग छह हजार महिलाओं के साथ शिरकत की। इतनी ब़डी संख्या में आए सभी कार्यकर्ताओं का एक ही मकसद था कि अपने जननायक के जन्मदिवस को यादगार बनाना।

इस अवसर पर आमेर के कक्षा 12वीं बोर्ड परीक्षा में 80 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने वाले 645 विद्यार्थियों को जननेता सतीश पूनिया एवं गणमान्य अतिथियों ने पुरस्कृत किया तथा प्रशस्ति पत्र प्रदान किए। इस अवसर पर रक्तदान का एक अनूठा रिकॉर्ड बना। कार्यक्रम के दौरान 1570 युनिट्स रक्त का संग्रहण हो चुका था जबकि उसके बाद भी रक्तदाताओं की कतार लगी थी।

कार्यक्रम का शुभारंभ नगर विधायक फूलचंद भिंडा, चौमूं विधायक रामलाल शर्मा, किशनग़ढ वास विधायक राम हेत यादव और जननायक डॉ सतीश पूनिया के साथ आमेर प्रधान सीताराम , जालसू प्रधान बादाम देवी, ओम सारस्वत आदि ने भारत माता के चित्र के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित कर किया। दीनदयाल उपाध्याय के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें स्मरण किया। इस अवसर पर करौली सांसद मनोज राजोरिया, जमवारामग़ढ के विधायक जगदीश नारायण मीणा, बगरू विधायक कैलाश वर्मा आदि अपने समर्थकों के साथ आए और उन्होंने पूनिया को बधाई दी। साथ ही राजस्थान केश कला बोर्ड के चेयरमैन मोहन मोरवाल, जयपुर शहर भाजपा अध्यक्ष संजय जैन ने पूनिया का स्वागत किया एवं जन्मदिन की शुभकामनाएं प्रदान की। चौमूं नगरपालिका चेयरमैन श्रीमती अर्चना कुमावत,फल मंडी अध्यक्ष दिनेश गोरा, सूरजग़ढ चूरू के प्रधान पूनिया, आमेर की पूर्व प्रधान श्रीमती सीता चौधरी, बानसूर अलवर प्रधान मीरा मीणा, जमवारामग़ढ के पूर्व प्रधान चौधरी, परि़डवाल, गुलाब समेत सैंक़डों कार्यकर्ता, जो राजस्थान के कोने-कोने से आए थे, ने पूनिया का माल्यार्पण कर स्वागत किया। टोंक, करौली के कार्यकर्ताओं ने भगवान बलराम का हल प्रतीक के रूप में पूनिया कोे भेंट किया।