logo
ओमीक्रोन मामलों में बढ़ोतरी तीसरी लहर का संकेत! क्या कहते हैं विशेषज्ञ?
देश के 23 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से कोरोना वायरस के नए स्वरूप ‘ओमीक्रोन’ के अब तक 1,892 मामले सामने आ चुके हैं
 
दक्षिण अफ्रीका में ओमीक्रोन की लहर दो सप्ताह में तेजी से फैली और यदि हम वहां संक्रमण की लहर पर गौर करें तो मामलों की संख्या कम होनी शुरू हो गई है

नई दिल्ली/भाषा। टीकाकरण संबंधी राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह (एनटीएजीआई) के कोविड-19 कार्य समूह के अध्यक्ष डॉ. एनके अरोड़ा ने कहा है कि भारत के बड़े शहरों में कोरोना वायरस के दैनिक मामलों में ओमीक्रोन स्वरूप के मामले 50 प्रतिशत से भी अधिक हैं और पिछले एक सप्ताह में मामलों में तेज बढ़ोतरी वैश्विक महामारी की तीसरी लहर की ओर इशारा करती है, जैसा कि कई अन्य देशों में देखा जा रहा है। अरोड़ा ने कहा कि देश के अधिकतर राज्यों में ओमीक्रोन के मामले पाए गए हैं।

उन्होंने कहा कि बड़े शहरों और आस-पास के इलाकों में दैनिक मामलों में वायरस के नए स्वरूप के मामले 50 प्रतिशत से भी अधिक हैं। उन्होंने कहा, ‘पिछले एक सप्ताह में कोविड-19 के मामलों में तेज बढ़ोतरी तीसरी लहर का संकेत देती है, जो कि दुनिया के कई अन्य देशों में भी देखी जा रही है।’ बहरहाल, उन्होंने जोर दिया कि लोगों को घबराने की आवश्यकता नहीं है।

अरोड़ा ने कहा कि देश में 80 प्रतिशत से अधिक लोग वायरस से प्राकृतिक रूप से संक्रमित हो चुके हैं, 90 प्रतिशत से अधिक वयस्कों को कोविड-19 रोधी कम से कम एक टीका लग चुका है और 65 प्रतिशत लोगों का पूर्ण टीकाकरण हो चुका है।

उन्होंने कहा, ‘दक्षिण अफ्रीका में ओमीक्रोन की लहर दो सप्ताह में तेजी से फैली और यदि हम वहां संक्रमण की लहर पर गौर करें तो मामलों की संख्या कम होनी शुरू हो गई है और अधिकतर लोगों में बीमारी के लक्षण नहीं हैं या मामूली लक्षण हैं।’

अरोड़ा ने कहा कि ये सभी कारक संकेत देते हैं कि दक्षिण अफ्रीका में ओमीक्रोन की लहर संभवत: कमजोर होने वाली है। उन्होंने कहा कि महामारी विज्ञान के संबंध में दक्षिण अफ्रीका और भारत के बीच कुछ समानताएं हैं। दोनों देशों में संक्रमण की प्राकृतिक दर अत्यधिक है, लेकिन भारत में टीकाकरण की दर कई गुणा अधिक है।

अरोड़ा ने कहा, ‘इसके मद्देनजर, हम भारत में काफी हद तक इसी तरह की तीसरी लहर देख सकते हैं। भारत में पिछले सात से 10 दिन में कोविड संक्रमण की प्रकृति पर गौर करने के बाद मुझे लगता है कि हम जल्द ही तीसरी लहर के चरम पर पहुंच जाएंगे।’

देश के 23 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से कोरोना वायरस के नए स्वरूप ‘ओमीक्रोन’ के अब तक 1,892 मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें से 766 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं या विदेश चले गए हैं। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मंगलवार को अद्यतन किए गए आंकड़ों के मुताबिक, नये स्वरूप के महाराष्ट्र में सबसे अधिक 568 मामले सामने आए हैं। इसके बाद दिल्ली में 382, केरल में 185, राजस्थान में 174, गुजरात में 152, और तमिलनाडु में 121 मामले सामने आए हैं।

मंत्रालय की ओर से सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, भारत में एक दिन में कोविड-19 के 37,379 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,49,60,261 हो गई है जबकि उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 1,71,830 पर पहुंच गई है।

देश-दुनिया के समाचार FaceBook पर पढ़ने के लिए हमारा पेज Like कीजिए, Telagram चैनल से जुड़िए