सांकेतिक चित्र
सांकेतिक चित्र

नई दिल्ली/वार्ता। वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद् (सीएसआईआर) की विशेष बस ओडिशा में पिछले सप्ताह आये भयंकर चक्रवाती तूफान फोनी से प्रभावित इलाकों में पानी को पीने लायक बनायेगी।

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अधीन काम करने वाले सीएसआईआर के महानिदेशक शेखर सी. मांडे ने बताया कि यह बस एक घंटे में दो हजार लीटर पानी को साफ कर उसे पीने लायक बनाती है। खास बात यह है कि इसके लिए बाहर से बिजली आपूर्ति की जरूरत नहीं होती।

जब बस का इंजन चल रहा होता है उसी से उत्पन्न बिजली से बस में लगा उपकरण पानी को साफ करता है। तूफान के कारण राज्य में बिजली आपूर्ति भी अभी पूरी तरह दुरुस्त नहीं हुई है। ऐसे में यह बस काफी उपयोगी साबित होगी।

परिषद् की सेंट्रल सॉल्ट एंड मरीन केमिकल्स रिसर्च इंस्टीट्यूट द्वारा विकसित पानी साफ करने की प्रौद्योगिकी पर यह बस बनायी गयी है। बस बुधवार को तूफान प्रभावित इलाकों में पहुंच जायेगी। यह गांव-गांव घूमकर पानी को साफ करेगी ताकि लोगों को कम से पीने के लिए साफ पानी मिल सके।

सीएसआईआर महानिदेशक ने बताया कि यह बस किसी भी तरह के गंदे पानी को साफ करने में सक्षम है। यह झिल्ली आधारित रिवर्स ऑस्मोसिस (आरओ) प्रौद्योगिकी पर काम करता है।

देश-दुनिया की हर ख़बर से जुड़ी जानकारी पाएं FaceBook पर, अभी LIKE करें हमारा पेज.