जयपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने कांग्रेस पर लाशांे की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि वह किसानों को भ़डका कर देश में अशांति फैलाने का प्रयास कर रही है। हुसैन ने रविवार को यहां पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश के मंदसोर में किसान आंदोलन के दौरान कांग्रेस नेताओं के बयान इसके ज्वलंत प्रमाण है कि वह सत्ता हासिल करने के लिए जनता को बरगलाने में जुटी हुई है। कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी, खटीक और जिला पंचायत के कांग्रेसी मुखिया ने खुले आम सरकारी संपतियों को आग लगाने और हिंसा फैलाने का आहवान किया है जिसके प्रमाण भी मिले है।उन्होंने कहा कि देश का अन्नदाता कभी भी हिंसा और देश का नुकसान नहीं कर सकता। मध्यप्रदेश के मंदसौर में हुई हिंसा कांग्रेस की देन है। उन्होंने मध्यप्रदेश के किसान आंदोलन को कांग्रेस द्वारा हाईजैक करने का आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस ने इस संबंध में कांग्रेस के ३४ नेताओं के खिलाफ मामला दर्ज किया है।मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री के उपवास पर बैठने के सवाल पर उन्होंने कहा कि सरकार अनशन के मो़ड पर नहीं है बल्कि उपवास के माध्यम से इस घटना के प्रति अपना दुख व्यक्त कर रही है। उन्होंने कहा कि किसानों के हितों के लिए मध्यप्रदेश सरकार ने उत्कृष्ट कार्य किया है ओर वहां किसानों को शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर किसानों को ऋण उपलब्ध कराया गया है।देश के महाराष्ट्र, राजस्थान और अन्य राज्यों में भी किसान आंदोलन की सुगबुगाहट के संबंध में पूछे गए सवाल पर हुसैन ने कहा कि सभी राज्यों की परिस्थितियां अलग अलग है। केन्द्र सरकार ने किसानों के हित के लिए फसल बीमा योजना, मुद्रा स्वास्थ्य कार्ड जैसी अनेक योजनाएं लागू की है जिसका लाभ किसानों को मिला है।उन्होंने जोर देकर कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृतव वाली केन्द्र की राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंघन सरकार किसानों के हितों की अनदेखी नहीं करेगी और उनके कल्याण के लिए हर संभव उपाय करेगी। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार चाहती है कि वर्ष २०२२ तक देश के किसानों की आय दुगुनी हो इस दिशा में ठोस कार्य किए जा रहे है।