सांकेतिक चित्र
सांकेतिक चित्र

लखनऊ/भाषा। कोविड-19 को शिकस्त दे चुके 21 साल के एक युवक ने उत्तर प्रदेश में लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के प्लाज्मा बैंक के लिए अपना प्लाज्मा दान किया है। इस तरह अब संस्थान के पास सात लोगों का प्लाज्मा एकत्र हो गया है। केजीएमयू की ब्लड ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन विभाग की अध्यक्ष डॉ. तूलिका चंद्रा ने शनिवार को बताया कि ‘कोरोना वायरस से ठीक हुए युवक ने शुक्रवार रात प्लाज्मा दान किया। उसका ब्लड ग्रुप ‘ओ पॉजिटिव’ था जो बहुत कम लोगों का होता है।’

उन्होंने बताया कि अभी तक केजीएमयू में कोरोना वायरस से ठीक हुए सात लोग अपना प्लाज्मा दान कर चुके है। इनमें एक रेजीडेंट डाक्टर तौसीफ खान, कनाडा की एक महिला डॉक्टर और पांच अन्य लोग शामिल हैं। उन्होंने बताया कि इन सभी का प्लाज्मा संस्थान के प्लाज्मा बैंक में रखा जाएगा और यह एक साल तक कभी भी इस्तेमाल में लाया जा सकता है।

डॉ. चंद्रा ने बताया कि ‘केजीएमयू में इस समय 17 संक्रमित भर्ती हैं जिनमें दो महिलाएं शामिल हैं लेकिन इनमें से कोई भी रोगी की हालत इतनी गंभीर नहीं है कि उसे प्लाज्मा थैरेपी दी जाए। इसलिए केजीएमयू प्रशासन ने यह फैसला लिया है कि प्रदेश के दूसरे जिलों या मेडिकल कॉलेज, अस्पतालों में कोई संक्रमित रोगी ऐसा है जिसकी हालत बहुत नाजुक है और उसका उपचार प्लज्मा थैरेपी से किया जा सकता है तो उस रोगी को केजीएमयू लाया जाएगा और उसे यहां प्लाज्मा थैरेपी दी जाएगी।’ केजीएमयू में प्लाज्मा थैरेपी का अभी कोरोना रोगियों पर ट्रायल किया जा रहा है।