प्रतीकात्मक चित्र
प्रतीकात्मक चित्र

ईटानगर/भाषा। अरुणाचल प्रदेश सरकार ने लॉकडाउन के कारण घरों तक सीमित लोगों की मदद करने के विभिन्न कदम उठाए हैं ताकि जरूरी चीजें उनके घरों तक पहुंच सके।

25 मार्च से लॉकडाउन लागू होने के तुरंत बाद राज्य सरकार ने ‘यू टेल अस’ और ‘दुकान दादा’ जैसे ऑनलाइन एप शुरू किए। वहीं बाद में किराने का सामान और मास्क, सेनिटाइजर और एम्बुलेंस सहित अन्य जरूरी सामानों की आपूर्ति के लिए ‘मीबड्डी’ और ‘एपीइट्स’ जैसे एप शुरू किए हैं।

इसकी परिकल्पना राजधानी के पुलिस अधीक्षक (एसपी) तुम्मे अमो ने की थी। उन्होंने कहा, ‘मल्टी-सर्विस स्टोर और दरवाजे पर जरूरी सेवाएं प्रदान करने के लिए निजी डेवलपर्स की मदद से शुरू की गई डिलीवरी ऐप से राजधानी के लोगों को राहत पहुंचाई जा रही है जो कोरोना वायरस के प्रसार पर रोकने और मेलजोल से दूर रहने के लिए अपने घरों पर हैं।’

एसपी ने कहा कि राजधानी पुलिस ने दो वाहनों को क्रमश: ईटानगर और नाहरलागुन में मरीजों को अस्पताल ले जाने, बुजुर्गों की सेवा करने और मौत होने की दशा में शवों को ले जाने के लिए तैनात किए हैं। उन्होंने कहा, पुलिस कोविड-19 नियंत्रण कक्ष से संपर्क करके दोनों वाहनों की सेवाओं का लाभ उठाया जा सकता है।

एसपी ने कहा कि आवश्यक सेवाओं की पेशकश के लिए कई स्टोर भी मैदान में उतरे हैं, जबकि ‘हेंकाकोपस’ एप बिजली के बिलों के ऑनलाइन भुगतान, भारत गैस सिलेंडर की बुकिंग और डिलीवरी की सुविधा दे रहा है।