logo
गुजरात: कोविड देखभाल केंद्र में आग लगी, 60 से ज्यादा मरीजों को बचाया गया
 
गुजरात: कोविड देखभाल केंद्र में आग लगी, 60 से ज्यादा मरीजों को बचाया गया
प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोत: PixaBay

अहमदाबाद/भाषा। गुजरात के भावनगर में कोविड देखभाल केंद्र में तब्दील किए गए एक होटल में बुधवार तड़के आग लग गई। अधिकारियों ने बताया कि घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है। अधिकारी ने बताया कि ‘मामूली आग लगने और धुआं उठने के बाद’ कोरोना वायरस के कुल 61 मरीजों को अन्य अस्पतालों में ले जाया गया।

उन्होंने बताया कि आग लगने के वक्त अस्पताल में 68 मरीज थे। साथ ही बताया कि शेष सात मरीजों को भी जल्द ही स्थानांतरित किया जाएगा। राज्य की राजधानी से करीब 170 किलोमीटर की दूरी पर स्थित होटल को एक निजी अस्पताल ने कोविड देखभाल केंद्र में तब्दील किया था।

अधिकारी ने बताया कि आग मामूली थी और इस पर तत्काल काबू पा लिया गया। भावनगर दमकल विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी भरत कनाड़ा ने बताया कि ‘जेनरेशन एक्स होटल’ केंद्र के तीसरे तल पर धुआं भर गया था, इसी तल पर मरीजों को रखा गया था।

उन्होंने बताया, ‘मध्यरात्रि के कुछ देर बाद टीवी में चिंगारी उठने के बाद यह आग लगी। आग पर तुरंत काबू पा लिया गया लेकिन तीन मंजिला होटल के सबसे ऊपरी मंजिल पर अत्यधिक धुआं भरने से मरीजों को वहां रखना मुश्किल हो गया था।’

अधिकारी ने बताया, ‘एहतियात के तौर पर 61 मरीजों को दमकल कर्मियों की मदद से अन्य अस्पतालों में ले जाया गया। शेष सात को भी जल्द ही स्थानांतरित कर दिया जाएगा।’ भावनगर जिलाधिकारी गौरांग मकवाना ने कहा कि अस्पताल में मौजूद सभी 68 कोरोना वायरस मरीज सुरक्षित हैं और ‘मामूली आग’ पर तत्काल काबू कर लिया गया।

गौरतलब है कि एक मई को राज्य के भरुच स्थित चार मंजिला वेल्फेयर अस्पताल में आग लगने से कोविड-19 के 16 मरीजों और दो नर्सों की मौत हो गई थी।