नई दिल्ली/भाषा। हरियाणा में एक व्यक्ति रसोई में घरेलू सामानों को एल्कोहल आधारित सेनेटाइजर से साफ करने के दौरान गलती से आग के संपर्क में आने से 35 प्रतिशत झुलस गया। यह जानकारी चिकित्सकों ने दी। रेवाड़ी के 44 वर्षीय व्यक्ति को इस घटना के बाद रविवार रात यहां सर गंगा राम अस्पताल लाया गया था।

अस्पताल ने एक बयान में कहा, ‘व्यक्ति घर पर था और चाबी और मोबाइल फोन जैसे अपने घरेलू सामानों को साफ कर रहा था। उसी दौरान उसकी पत्नी भी वहां खाना बना रही थी। अचानक व्यक्ति के कुर्ते पर थोड़ा सेनेटाइजर गिर गया जिससे खाना पकाने वाली गैस से उसमें आग लग गई।’

कोरोना वायरस से संक्रमण से बचने के लिए चिकित्सकों की सलाह पर लोगों द्वारा नियमित तौर पर सेनेटाइजर का इस्तेमाल किया जा रहा है। डॉक्टरों ने कहा कि व्यक्ति 35 प्रतिशत झुलस गया है। मरीज के चेहरे, गर्दन, छाती, पेट और दोनों हाथ झुलस गए हैं।

अस्पताल के अधिकारियों ने कहा कि व्यक्ति का इलाज प्लास्टिक एवं कॉस्मेटिक सर्जरी विभाग में किया जा रहा है और उसकी हालत ‘स्थिर’ है।

प्लास्टिक एवं कॉस्मेटिक सर्जरी विभाग के अध्यक्ष महेश मंगल के अनुसार, ‘हालांकि हैंड सेनेटाइजर अत्यंत आवश्यक है, लेकिन हम सलाह देते हैं कि एल्कोहल-आधारित सेनेटाइजर का उपयोग बहुत सावधानी से किया जाना चाहिए।’ उन्होंने कहा, ‘इस उत्पाद में इथाइल एल्कोहल की काफी अधिक मात्रा होती है। कुछ मामलों में यह 62 प्रतिशत तक होती है। इससे सेनेटाइजर अत्यधिक ज्वलनशील बन जाता है और इससे किसी के झुलसे का खतरा होता है।’