सांकेतिक चित्र
सांकेतिक चित्र

गुवाहाटी/भाषा। गुवाहाटी पुलिस ने तीन दिनों के लिए ‘आवश्यक सेवा’ में शामिल सभी वाहनों के वास्ते सम-विषम योजना लागू करने की घोषणा की है ताकि शहर की सड़कों पर वाहनों की गतिविधि और कम हो।

सबसे पहले सम-विषम योजना की शुरुआत प्रदूषण रोकने के लिए दिल्ली में हुई थी। इसका मकसद सड़कों पर वाहनों की संख्या को नियंत्रित करना था। इस योजना के तहत एक दिन सड़कों पर सम संख्या वाली गाड़ी और अगले दिन विषम संख्या वाली गाड़ी चलती है। इसमें कोई गाड़ी नंबर प्लेट की आखिरी संख्या के हिसाब से चलती है।

गुवाहाटी पुलिस आयुक्त मुन्ना प्रसाद गुप्ता ने बताया, ‘गाड़ी के पास आवाजाही की अनुमति रहने के बावजूद आज केवल उन गाड़ियों को इजाजत है जिनका पंजीकरण का आखिरी नंबर विषम है।’ उन्होंने कहा कि इसी तरह विषम नंबर वाली गाड़ियां कल चलेंगी और सम नंबर वाली गाड़ियां रविवार को चलेंगी।

गुप्ता ने कहा, ‘हालांकि, एंबुलेंस, डॉक्टरों, स्वास्थ्यकर्मियों, मीडिया, पुलिस, ड्यूटी पर तैनात सरकारी सेवक, पानी के वाहन, माल से लदे ट्रकों, एलपीजी ले जा रहे ट्रकों, रिफाइनरी कार्य, बिजली विभाग और फोन सेवा से जुड़े वाहनों को इस दायरे से बाहर रख गया है।’

पुलिस आयुक्त ने कहा कि सब्जी और दूध ले जा रहे सभी वाहनों को सुबह नौ बजे से पहले शहर में प्रवेश की अनुमति दी गई है। शहर के गणेशगुड़ी इलाके में बृहस्पतिवार को सड़कों पर काफी गाड़ियां नजर आई थीं और ज्यादातर पर ‘आवश्यक सेवा’ के स्टिकर लगे हुए थे।

गुप्ता ने बताया कि लॉकडाउन के बाद से गुवाहाटी में पुलिस ने 2,977 वाहनों को जब्त किया और 11,91,500 रुपए का जुर्माना वसूला गया।