कोलकाता। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को कहा कि देश आतंकवाद को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेगा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश ने प्रभावी और ‘अग्रसक्रिय’ रक्षा नीति विकसित की है। उन्होंने कहा कि जो लोग देश को बांटना चाहते हैं, उनके दिलों में खौफ पैदा करना एनएसजी का काम है।

शाह ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक करने के मामले में भारत अब अमेरिका और इजराइल जैसे देशों के समूह में शामिल हो गया है। उन्होंने राजरहाट में राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) के नए भवन का उद्घाटन करते हुए कहा, अब, मोदीजी के प्रधानमंत्री बनने के बाद, हमने एक अग्रसक्रिय रक्षा नीति विकसित की है जो विदेश नीति से अलग है।

गृह मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार ऐसी नीति पर काम कर रही है जिससे जवानों को अपने परिवारों के साथ रहने के लिए साल में कम से कम 100 दिनों की छुट्टी मिले। आतंकवाद से लड़ने के लिए एनएसजी जवानों की प्रशंसा करते हुए शाह ने कहा, हमने इसे दुनिया का सर्वश्रेष्ठ बल बनाने के लिए कदम उठाए हैं।

केंद्रीय मंत्री संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ विपक्षी पार्टियों के प्रदर्शनों के बीच आज सुबह में यहां पहुंचे।शहर के विभिन्न हिस्सों में भी प्रदर्शन किए गए। इनमें शहीद मिनार ग्राउंड का परिसर भी शामिल है जहां शाह एक रैली को संबोधित करेंगे।