भारत में बीते 2 साल में सुरक्षा परिदृश्य में सकारात्मक बदलाव आया: रेड्डी

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी। फोटो स्रोत: फेसबुक पेज।
केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी। फोटो स्रोत: फेसबुक पेज।

जम्मू/भाषा। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने रविवार को कहा कि देश के सुरक्षा परिदृश्य में बीते दो सालों में काफी सकारात्मक बदलाव आया है और कानून-व्यवस्था की स्थिति सुधरी है तथा आतंकवादियों व नक्सलियों द्वारा की जाने वाली हिंसा में कमी आई है।

उन्होंने कहा कि देश द्वारा कोविड-19 के खिलाफ चल रही जंग को जीतने के बाद जम्मू-कश्मीर के लोगों की अकांक्षाओं को पूरा करने के लिए विकास गतिविधियों पर नए सिरे से ध्यान केंद्रित किया जाएगा।

यहां मजीन में श्री वेंकटेश्वर स्वामी मंदिर की आधारशिला रखे जाने के लिए आयोजित भूमि-पूजन कार्यक्रम में हिस्सा लेने के बाद रेड्डी ने संवाददाताओं को बताया, ‘बीते दो सालों में देश में काफी बदलाव हुए हैं और एक-दो घटनाओं को छोड़कर देश में कहीं भी कुछ नहीं हुआ है।’

उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा की अध्यक्षता वाली जम्मू कश्मीर प्रशासनिक परिषद ने एक अप्रैल को एक मंदिर और उससे जुड़े अन्य आधारभूत ढांचों के निर्माण के लिये तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम (टीटीडी) को 40 वर्ष के पट्टे पर जमीन आवंटित करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी थी।

इसके बाद मजीन गांव में टीटीडी को 62.02 एकड़ जमीन मंदिर निर्माण और उससे संबंधित आधारभूत ढांचों, तीर्थयात्री सुविधा परिसर, वेद पाठशाला, आध्यात्मिक और ध्यान केंद्र, कार्यालय, आवासीय क्वार्टर और पार्किंग के लिए आवंटिक की गई।

केंद्र के प्रयासों के कारण जम्मू-कश्मीर में बदलते सुरक्षा परिदृश्य से संबंधित एक सवाल के जवाब में मंत्री ने कहा कि पूरे देश में स्थिति में सुधार हुआ है। उन्होंने कहा, ‘किसी भी मुद्दे को लें- एक घटना, घुसपैठ और अन्य सभी कोण- आंतरिक, भीतरी इलाके, उग्रवाद और वामपंथी चरमपंथ- सीमा के अलावा आतंकवादी घटनाएं नहीं हो रही हैं।’

रेड्डी ने कहा, ‘कानून-व्यवस्था में सुधार के साथ, आतंकवाद में कमी, बीते दो सालों में कोई बम विस्फोट नहीं होने समेत देश में काफी बदलाव हुए हैं। एक-दो वाकयों को छोड़ दीजिए तो कोई घटना नहीं हुई है।’

अगस्त 2019 में जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान समाप्त किए जाने और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटे जाने के संदर्भ में मंत्री ने कहा कि केंद्र ने काफी योजनाएं बनाई थीं लेकिन दुर्भाग्य से कोरोना वायरस संक्रमण की महामारी से इन्हें झटका लगा है।

मंत्री ने कहा, ‘भगवान के आशीर्वाद से वायरस के खिलाफ लड़ाई हम जीतेंगे और जम्मू-कश्मीर के लोगों को अकांक्षाओं को पूरा करने और विकास की दिशा में नए सिरे से ध्यान केंद्रित किया जाएगा।’