तृणमूल ने बंगाल को सिर्फ अंधकार दिया, भाजपा की डबल इंजन की सरकार सोनार बांग्ला देगी: मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जनसभा को संबोधित करते हुए। फोटो स्रोत: भाजपा ट्विटर अकाउंट।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जनसभा को संबोधित करते हुए। फोटो स्रोत: भाजपा ट्विटर अकाउंट।

कांठी/दक्षिण भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को पश्चिम बंगाल के कांठी में भाजपा की जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि तृणमूल सरकार ने बंगाल को सिर्फ अंधकार दिया है। भाजपा की डबल इंजन की सरकार बंगाल को सोनार बांग्ला देगी। आज़ादी के 75 साल के उत्सव में पश्चिम बंगाल का विशेष महत्व है। आज़ादी की लड़ाई में दिए गए हर योगदान को भावी पीढ़ी तक पहुंचाना भाजपा सरकार की प्राथमिकता है। इसलिए पश्चिम बंगाल भाजपा के संकल्पों का भी अहम केंद्र है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज जो युवा 25 वर्ष के हैं, वो युवा जो आज इस चुनाव में पहली बार अपने पवित्र मत का मतदान देने वाले हैं उनके लिए यह समय बहुत अहम है। यहां के युवाओं पर आने वाले 25 वर्ष के पश्चिम बंगाल का दायित्व है। इसलिए आसोल परिवर्तन आज पश्चिम बंगाल की जरूरत है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि दीदी आजकल मेदिनीपुर में आकर बार-बार बहाने बना रही हैं। दीदी उन बहनों, उन परिवारों को जवाब नहीं दे पाईं जिनको पहले अम्फान ने तबाह किया और फिर तृणमूल के टोलाबाज़ों ने लूट लिया। यहां केंद्र सरकार ने जो राहत भेजी थी, वो ‘भाइपो विंडो’ में फंस गई।

प्रधानमंत्री ने कहा कि दीदी, आज पश्चिम बंगाल पूछ रहा है, कि अम्फान की राहत किसने लूटी? गरीब का चावल का किसने लूटा? अम्फान के सताए लोग, आज भी टूटी हुई छत के नीचे जीने को मजबूर क्यों हैं। जब जरूरत होती है तो तब दीदी दिखती नहीं, जब चुनाव आता है तो कहती हैं- सरकार दुआरे-दुआरे! यही इनका खैला है। पश्चिम बंगाल, यहां का बच्चा-बच्चा, ये खैला समझ गया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बंगाल का विकास, यहां के लोगों का विकास, भाजपा का संकल्प है। बंगाल के उज्ज्वल भविष्य के लिए हम जी-जान से जुट जाएंगे, ये वादा करने मैं आया हूं। भाजपा का संकल्प, बंगाल के गरीब से गरीब तक, हर क्षेत्र तक विकास पहुंचाने का संकल्प है। भाजपा हर स्कीम को स्कैम मुक्त करेगी। कट, कमीशन पर रोक लगाएगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि भाजपा लाभार्थियों के बैंक खाते में सीधा लाभ देने के लिए, डीबीटी देने के लिए कदम उठाएगी। कोई बिचौलिया नहीं, कोई तोलाबाज नहीं। बंगाल में भाजपा का संकल्प पत्र भी सामने आ चुका है। मैं बंगाल, भाजपा के सभी नेताओं, बंगाल भाजपा की टीम को इसके लिए बहुत बधाई देता हूं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने जो संकल्प पत्र बनाया है, जनता की आवाज सुनकर बनाया है। लोगों की मुसीबतों को सुनकर बनाया है, बंगाल के उज्ज्वल भविष्य के लिए बनाया है। केंद्र सरकार हर घर नल से जल पहुंचाने के लिए काम कर रही है। लेकिन तृणमूल की सरकार ने यहां ये भी नहीं होने दिया। तृणमूल सरकार को आपकी चिंता नहीं है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बहनों-बेटियों के सशक्तिकरण के लिए जो काम केंद्र की भाजपा सरकार कर रही है। उसे डबल इंजन की सरकार कई गुना बढ़ाने वाली है। बंगाल का किसान भूल नहीं सकता कि कैसे दीदी ने निर्ममता दिखाई है। दीदी ने आपको पीएम किसान सम्मान निधि से वंचित रखा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि ये पैसे तृणमूल सरकार को किसानों तक नहीं पहुंचने देना था, ये पैसे दिल्ली से भारत सरकार किसानों के खाते में जमा करना चाहती थी लेकिन दीदी किसानों से दुश्मनी लेकर बैठ गई। किसानों के खाते में भारत सरकार के पैसे नहीं जाने दिए।

प्रधानमंत्री ने कहा कि 2 मई को बंगाल के विकास के बीच आ रहीं दीवारें टूट जाएंगी। यहां भाजपा की सरकार बनेगी और किसानों के हक के तीन साल के पैसे भी उनके खातों में मैं जमा करके रहूंगा। पिछले तीन साल के जो पैसे दीदी ने नहीं दिए, वो मैं किसानों को दूंगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि भाजपा की डबल इंजन की सरकार हल्दिया को नदी जलमार्गों से कनेक्ट कर रही है। पश्चिम बंगाल, बिहार और उत्तर प्रदेश के स्टील प्लांट्स और अन्य उद्योगों के लिए जो आयात और निर्यात होगा, उसका हल्दिया अहम सेंटर बनने वाला है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जिस बंगाल ने पूरे भारत को वन्दे मातरम की भावना में बांधा है, उस बंगाल में ममता दीदी ‘बोहिरागोतो’ की बात कर रही हैं। आप सभी ने ममता दीदी को 10 साल काम करने का मौका दिया। आपके बीच आकर उन्हें अपने काम का हिसाब देना चाहिए। लेकिन दीदी आपको हिसाब नहीं दे रही बल्कि हिसाब मांगने वालो को गालियां दे रही है, उन पर गुस्सा कर रही हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि असम में राजग की सरकार है। इन पांच वर्षों में वहां तेजी से विकास के काम हुए। इन पांच वर्षों में असम में शांति आई है, स्थिरता आई है। जिन्होंने अलगाववाद का रास्ता चुना था, वो मुख्यधारा में लौट आए हैं। दीदी के राज में यहां हिंसा और बम धमाकों की खबरे आती है। पूरे-पूरे घर उड़ जाते हैे धमाकों से और दीदी की सरकार सिर्फ देखती रहती है। इस स्थिति को हमें मिलकर बदलना होगा। बंगाल को शांति चाहिए, स्थिरता चाहिए, बम-बंदूकों और हिंसा से मुक्ति चाहिए।