टूलकिट दस्तावेज जांच: दो लोगों के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी

प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोत: PixaBay
प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोत: PixaBay

नई दिल्ली/भाषा। किसानों के प्रदर्शन से जुड़ी ‘टूलकिट’ सोशल मीडिया पर साझा करने के आरोप में दो लोगों के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया गया है। मामले में जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि की गिरफ्तारी के दो दिन बाद वारंट जारी किए गए हैं।

कुछ आलोचकों का कहना है कि ‘टूलकिट’ भारत में प्रदर्शनों को हवा देने की उनकी साजिश का ‘सबूत’ है। दिशा रवि (21) को गत शनिवार को बेंगलूरु से गिरफ्तार किया गया था और दिल्ली की एक अदालत ने उसे रविवार को पांच दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया।

पुलिस ने बताया कि निकिता जैकब और शांतनु के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया गया है। इन पर दस्तावेज तैयार करने और ‘खालिस्तान-समर्थक तत्वों’ के सीधे सम्पर्क में होने का आरोप है।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘निकिता जैकब और शांतनु के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया है। दोनों ‘टूलकिट’ मामले में वांछित हैं। उन पर दस्तावेज तैयार करने और खालिस्तान-समर्थक तत्वों के सीधे सम्पर्क में होने का संदेह है।’