विकास दुबे
विकास दुबे

लखनऊ/भाषा। कुख्यात अपराधी विकास दुबे के घर के बाहर हुए हमले में आठ पुलिसकर्मियों के शहीद होने की घटना के बाद पुलिस ने उस पर ढाई लाख रुपए का इनाम घोषित कर दिया है और पूरे प्रदेश के टोल नाकों पर उसका पोस्टर लगाने के लिए भी कहा है ।

कानपुर के पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल ने सोमवार को बताया, ‘विकास दुबे पर अब ढाई लाख रुपए का इनाम घोषित कर दिया गया है। इस आशय का एक प्रस्ताव पुलिस महानिदेशक को भेजा गया था जहां से इनाम की राशि बढ़ाने की मंजूरी मिलने के बाद सोमवार को इनामी रकम बढ़ा दी गई है।’

अग्रवाल ने बताया, ‘जो व्यक्ति दुबे के बारे में सही जानकारी देगा, उसे न केवल इनाम दिया जायेगा बल्कि उसकी पहचान भी गुप्त रखी जाएगी। पूरे प्रदेश के टोल नाको पर दुबे के पोस्टर लगाने के लिए भी कहा गया है ताकि अगर वह किसी टोल नाके से निकलता है तो उसके बारे में जानकारी मिल सके।’

उल्लेखनीय है कि पहले दुबे पर पहले पचास हजार का इनाम था जिसे बाद में बढ़ाकर एक लाख कर दिया गया और अब सोमवार को इसमें इजाफा कर इसे ढाई लाख रुपए कर दिया गया है।

महानिरीक्षक ने बताया, ‘दुबे को ढूंढ़ने के लिए 40 पुलिस थानों की 25 टीमें लगाई गई हैं जो दिन-रात पूरे प्रदेश के विभिन्न जिलों में छापेमारी कर रही हैं। इसके अलावा कुछ टीमें दूसरे प्रदेशों को भी भेजी गई हैं। जल्द ही अच्छी खबर मिलने की उम्मीद है।’

पुलिस सूत्रों ने बताया कि पुलिस के निगरानी दल की नजरें दुबे के करीबियों के मोबाइल पर लगातार बनी हुई है और उससे कोई भी नाता रखने वाला हर व्यक्ति पुलिस रडार पर है।

गौरतलब है कि बृहस्पतिवार देर रात कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के गांव बिकरू निवासी दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने पहुंची पुलिस टीम पर हमला कर दिया गया था जिसमें एक क्षेत्राधिकारी एक थानाध्यक्ष समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। मुठभेड़ में पांच पुलिसकर्मी, एक होमगार्ड और एक आम नागरिक घायल हैं। घटना के बाद से पुलिस को दुबे का कोई सुराग नहीं मिला है।