logo
कर्नाटक, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश में उपचुनावों के लिए हो रहा मतदान
आवश्यक स्थानों पर केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों समेत 2,000 से अधिक पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है
 
कड़पा के पुलिस अधीक्षक केकेएन अन्बुराजन ने बताया कि 281 मतदान केंद्रों में से 148 को ‘संवेदनशील’ माना गया है

बेंगलूरु/भाषा। कर्नाटक में सिन्डगी और हानगल विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए मतदान चल रहा है।

निर्वाचन अधिकारियों ने बताया कि मतदान शनिवार सुबह सात बजे शुरू हुआ और यह शाम सात बजे तक चलेगा। दोनों निर्वाचन क्षेत्रों में कुल 19 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं। सिन्डगी में छह और हानगल में 13 प्रत्याशी हैं। सिन्डगी से जनता दल (सेक्यूलर) के विधायक एम सी मानागुली और हानगल से भारतीय जनता पार्टी के सी एम उडासी के निधन के बाद इन सीटों पर उपचुनाव की आवश्यकता पड़ी।

भाजपा ने सिन्डगी से रमेश भूसानुर और हानगल से शिवराज सज्जनार को उम्मीदवार बनाया है। कांग्रेस ने सिन्डगी से एम सी मानागुली के बेटे अशोक मानागुली जबकि हानगल से पूर्व पार्षद श्रीनिवास माने को प्रत्याशी बनाया है। जद (एस) ने सिन्डगी से 33 वर्षीय स्नातकोत्तर पास नाजिया शकील अहमद अंगाडी को उम्मीदवार बनाया है जबकि हानगल से 35 वर्षीय बी.ई, एम.टेक नियाज शेखर को उम्मीदवार बनाया है।

तेलंगाना में हुजूराबाद विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए मतदान सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त के बीच सुबह सात बजे आरंभ हुआ। इस सीट पर 306 मतदान केंद्रों पर शाम सात बजे तक मतदान चलेगा।

करीमनगर पुलिस आयुक्त वी. सत्यनारायण ने कहा कि 107 मतदान केंद्रों को संवेदनशील माना गया है और वहां अतिरिक्त बलों को तैनात किया गया है।

इस सीट पर जून में ई. राजेंद्र के निधन के बाद उपचुनाव की आवश्यकता पड़ी है। राजेंद्र ने भूमि हथियाने के आरोपों पर राज्य मंत्रिमंडल से हटाए जाने के बाद इस्तीफा दे दिया था। इस निर्वाचन क्षेत्र में कुल 30 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं। हालांकि मुख्य मुकाबला गेलू श्रीनिवास यादव (तेलंगाना राष्ट्र समिति), ई. राजेंद्र (भाजपा) और वेंकट बालमूरी (कांग्रेस) के बीच रहने की संभावना है।

वहीं, आंध्र प्रदेश में बाडवेल विधानसभा सीट पर उपचुनाव के लिए मतदान सुबह सात बजे आरंभ हुआ। मतदाताओं को कतारों में खड़े देखा गया।

कड़पा के पुलिस अधीक्षक केकेएन अन्बुराजन ने बताया कि 281 मतदान केंद्रों में से 148 को ‘संवेदनशील’ माना गया है। आवश्यक स्थानों पर केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों समेत 2,000 से अधिक पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है।

यह विधानसभा सीट सत्तारूढ़ वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के विधायक जी. वेंकट सुब्बैया का मार्च में निधन होने के बाद खाली हो गयी थी। पार्टी ने सुब्बैया की पत्नी सुधा को अपना उम्मीदवार बताया है जबकि विपक्षी दल तेलुगु देशम पार्टी ने एलान किया कि वह दिवंगत विधायक की पत्नी का सम्मान करते हुए उपचुनाव के लिए किसी को उम्मीदवार नहीं बनायेगी और उसने इसे ‘पारंपरिक मूल्य’ बताया।

भारतीय जनता पार्टी ने सुरेश पनथाला को उम्मीदवार बनाया है जिन्हें अभिनेता पवन कल्याण की जन सेना पार्टी का समर्थन हासिल है जबकि कांग्रेस ने पी. कमलअम्मा को प्रत्याशी बनाया है।

दादरा और नागर हवेली लोकसभा सीट पर भी शनिवार सुबह मतदान शुरू हो गया। लोगों को मतदान केंद्रों के बाहर कतारों में खड़े हुए देखा गया। इस सीट से निर्दलीय सांसद मोहन देलकर के फरवरी में निधन के बाद उपचुनाव की आवश्यकता हुई।

शिवसेना ने देलकर की पत्नी कलाबेन देलकर को अपना प्रत्याशी बनाया है जबकि भाजपा ने महेश गावित और कांग्रेस ने महेश ढोडी को उम्मीदवार बनाया है। इन सभी सीटों पर मतों की गिनती दो नवंबर को होगी।

देश-दुनिया के समाचार FaceBook पर पढ़ने के लिए हमारा पेज Like कीजिए, Telagram चैनल से जुड़िए