देबेंद्र नाथ रे
देबेंद्र नाथ रे

कोलकाता/भाषा। पश्चिम बंगाल के भाजपा नेता और हेमताबाद के विधायक देबेंद्र नाथ रे की मृत्यु फांसी लगने के कारण हुई और उनके शरीर पर कोई अन्य चोट का निशान नहीं पाया गया। मंगलवार को जारी पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार यह जानकारी सामने आई है।

सोमवार को उत्तर दिनाजपुर जिले के बिंदाल गांव में अपने घर के पास एक बंद दुकान के बाहर बरामदे की छत से रे का शव लटका मिला।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है, ‘मौत फांसी के कारण हुई। किसी अन्य चोट का निशान नहीं मिला।’ पश्चिम बंगाल पुलिस ने कहा कि उनकी कमीज की जेब से एक सुसाइड नोट मिला जिसमें उन्होंने दो लोगों को उनकी मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया।

रे के परिवार और भाजपा ने दावा किया कि उनकी हत्या टीएमसी ने की है। राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी ने इस आरोप से इनकार किया है। रे के परिवार के सदस्यों और भाजपा ने उनकी मौत की सीबीआई जांच की मांग की है।