चर्चा: प्रधानमंत्री की कोलकाता रैली में शामिल होकर सियासी पारी का आगाज करेंगे सौरव गांगुली?

फोटो स्रोत: सौरव गांगुली फेसबुक पेज।
फोटो स्रोत: सौरव गांगुली फेसबुक पेज।

कोलकाता/भाषा। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरव गांगुली के सात मार्च को कोलकाता में होने वाली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली में हिस्सा लेने की अटकलों के बीच भाजपा ने कहा कि इस बारे में पूर्व क्रिकेटर को फैसला करना है कि वह रैली में शामिल होना चाहते हैं या नहीं।

भाजपा के प्रवक्ता शामिक भट्टाचार्य ने कोलकाता में संवाददाताओं से कहा कि भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान अगर कार्यक्रम में हिस्सा लेना चाहते हैं और उनका स्वास्थ्य तथा मौसम संबंधी परिस्थितियां इसकी इजाजत देते हैं तो उनका स्वागत है।

गांगुली (48) को 31 जनवरी को अस्पताल से छुट्टी मिली थी। इससे पहले हृदय तक जाने वाली धमनियों में अवरोध को दूर करने के लिए उनकी एक और एंजीयोप्लास्टी की गई थी। सर्जरी के दौरान उन्हें दो और स्टेंट लगाए गए थे।

जनवरी के शुरू में गांगुली को दिल का हल्का दौरा पड़ा था और हृदय से संबंधित ट्रिपल वेसेल डिजीज का पता चला था। उस वक्त एक धमनी में स्टेंट लगाया गया था।

भट्टाचार्य ने कहा, ‘हम जानते हैं कि सौरव फिलहाल आराम कर रहे हैं। अगर वे कार्यक्रम में आने की सोचते हैं और उनका स्वास्थ्य तथा मौसम अनुकूल रहता है तो उनका बहुत स्वागत है। अगर वे आते हैं तो हमें लगता है कि उन्हें यह पसंद आएगा। वहां मौजूद लोगों को भी अच्छा लगेगा। लेकिन इस बारे में (कार्यक्रम में शामिल होने के बारे में) हम नहीं जानते। यह फैसला उन्हें करना है।’

हालांकि इस मुद्दे पर बीसीसीआई प्रमुख की ओर से कोई बयान नहीं आया है। ऐसी अटकलें हैं कि वे राज्य में विधानसभा चुनाव से पहले राजनीति में शामिल होंगे।