लद्दाख की एक प्राचीन इमारत का खूबसूरत नजारा
लद्दाख की एक प्राचीन इमारत का खूबसूरत नजारा

नई दिल्ली/भाषा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि सरकार केंद्रशासित प्रदेश लद्दाख में 7,500 मेगावाट क्षमता के सौर पार्क के निर्माण की योजना पर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार के स्वच्छ ऊर्जा पर जोर के साथ भारत नवीनकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में दुनिया के पांच शीर्ष देशों में आ गया है।

उन्होंने यह भी कहा कि एथेनॉल उत्पादन में पिछले पांच साल में पांच गुना वृद्धि हुई है। प्रधानमंत्री ने 74वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले की प्राचीर से राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा, ‘लद्दाख को केंद्रशासित प्रदेश बनाकर, उनकी बरसों पुरानी जो मांग थी, आकांक्षी थी, उसे हमने पूरा किया है। वहां विकास के अन्य कार्यों…के साथ बिजली के लिए साढ़े सात हजार मेगावाट के सौर पार्क के निर्माण की योजना बन रही है…।’

उन्होंने कहा कि स्वच्छ ऊर्जा पर जोर के साथ भारत नवीकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में दुनिया के पांच शीर्ष देशों में शामिल है। उल्लेखनीय है कि सरकार ने 2022 तक 1.75 लाख मेगावाट नवीकरणीय ऊर्जा उत्पादन क्षमता का लक्ष्य रखा है। इसमें एक लाख मेगावाट सौर ऊर्जा उत्पादन क्षमता सृजित करने का लक्ष्य है।

प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि पेट्रोल से प्रदूषण को कम करने के लिए एथेनॉल उत्‍पादन बढ़ाने और उसके इस्‍तेमाल पर बल दिया जा रहा है। उन्होंने कहा, ‘पांच साल पहले हमारे देश में 40 करोड़ लीटर उत्‍पादन होता था। आज पांच साल में उत्पादन पांच गुना बढ़कर 200 करोड़ लीटर पहुंच गया है जो पर्यावरण के लिए बहुत उपयोगी सिद्ध हो रहा है।’

मोदी ने यह भी कहा कि सिक्किम ने जिस तरीके से जैविक राज्य के रूप में अपनी पहचान बनायी है, वैसे ही लद्दाख, लेह, करगिल पूरा क्षेत्र कार्बन तटस्थ (कार्बन न्यूट्रल) इलाका के रूप में अपनी पहचान बना सकता है। उन्होंने कहा कि सरकार वहां के नागरिकों के साथ मिलकर इस दिशा में काम कर रही है।