चेन्नई। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीसामी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और राज्य को राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा से छूट देने की मांग की। दोनों नेताओं के बीच क्या बातचीत हुई इसका उल्लेख करते हुए एक आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया, ’’मुख्यमंत्री ने जोर दिया कि तमिलनाडु के छात्रों के कल्याण के मद्देनजर राज्य को नीट से छूट दी जानी चाहिए।’’ पलानीस्वामी की मोदी के साथ बैठक गत गुरुवार से राज्य के मंत्रिस्तरीय प्रतिनिधिमंडल के केंद्र सरकार के आला मंत्रियों से मुलाकात करने और चर्चा करने के बीच हुई। उनकी बैठक का इसलिए भी महत्व है क्योंकि द्रमुक समेत विपक्ष इस मुद्दे पर केंद्र और राज्य सरकार पर निशाना साध रहा है। गत २० जुलाई को राज्य के मंत्रियों ने मोदी और केंद्रीय स्वास्थ्य और मानव संसाधन विकास मंत्री क्रमश: जे पी नड्डा और प्रकाश जावडेकर से नीट से छूट को लेकर मुलाकात की थी। उन्होंने तब प्रधानमंत्री को ज्ञापन सौंपते हुए उन दो विधेयकों को राष्ट्रपति से मंजूरी दिलाने की मांग की थी, जिसे हाल में राज्य विधानसभा ने पारित किया था। इसका लक्ष्य राज्य को नीट से छूट दिलाना था।यह विधेयक तमिलनाडु को नीट के दायरे से छूट दिलाएगी और राज्य में १२ वीं कक्षा के अंकों के आधार पर स्नातक मेडिकल पाठ्यक्रमों में दाखिला जारी रहेगा।