चेन्नई। तमिलनाडु सरकार और नागरिक उड्डयन मंत्रालय के बीच क्षेत्रीय वायु संपर्क योजना-यूडीएएन के बीच गुरुवार को एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। मुख्यमंत्री इडाप्पाडी के पलानीसामी की उपस्थिति में राज्य के छोटे शहरों में सस्ती कीमत पर हवाई सेवा प्रदान करने के लिए हुए इस समझौते पर हस्ताक्षर हुए। इस समझौते के तहत हवाई अड्डे और रनवे का नवीनीकरण भी केन्द्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा मिल कर किया जाएगा। सरकार के इस कदम के बाद अब किफायती कीमत पर छोटे शहरों के नागरिक भी विमान सेवाओं का लाभ उठा सकंगे।ज्ञातव्य है कि छोटे शहरों में हवाई सेवा प्रदान करने के लिए केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने २१ अक्टूबर, २०१६ को नई नीति की घोषणा की थी और इसी नीति के तहत उ़डान योजना शुरु करने का निर्णय लिया गया था। क्षेत्रीय परिवहन संपर्क-उ़डान योजना को लागू करने के लिए, तमिलनाडु सरकार और नागरिक उड्डयन मंत्रालय के बीच लागत और संचालन संबंधी शर्तो पर सहमति बन गई। उल्लेखनीय है कि उ़डान योजना का लक्ष्य ८०० किमी तक की दूरी तक विमान सेवाओं को शुरु कर क्षेत्रीय संपर्क को बढावा देना है।केन्द्र सरकार की इस महत्वाकांक्षी उ़डान योजना के तहत देश भर में ४५ नए हवाई अड्डों का निर्माण किया जा रहा है जिसमें राज्य के सेलम, नेयवेली और होसूर शहर शामिल हैं। यह योजना ढांचागत सुविधाओं की स्थितित में सुधार लाएगी और क्षेत्रीय उद्योग को बढावा देने में मददगार साबित होगी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के साथ राज्य के परिवहन मंत्री एमआर विजयभास्कर, मुख्य सचिव गिरिजा वैद्यनाथन, सचिव के षन्मुगत, केंद्रीय नागरिक उड्डयन सचिव आर एन चौबे तथा राज्य और केंद्र सरकार के अन्य अधिकारी उपस्थित थे।