बेंगलूरु। कर्नाटक के ऊर्जा मंत्री डी के शिवकुमार की विभिन्न संपत्तियों पर जारी आयकर छापों के तीसरे दिन शुक्रवार को मुख्यमंत्री सिद्दरामैया ने इसे केंद्र सराकर का राजनीति से प्रेरित कदम बताया। आयकर अधिकारियों द्वारा छापों के दौरान सीआरपीएफ के इस्तेमाल का मुद्दा उठाते हुए उन्होंने भाजपा पर इसे भ्रष्टाचार के खिलाफ जंग बताने को यह कहते हुए निशाना साधा कि उनके ज्यादातर अपने नेता रिश्वतखोरी के आरोप झेल रहे हैं।मुख्यमंत्री ने छापों के दौरान सीआरपीएफ के प्रयोग पर भी आपत्ति जाहिर की और कहा वह एक मंत्री हैं। रिजर्व पुलिस को उनके घर और दूसरी जगह ले जाना ठीक नहीं। इसे भ्रष्टाचार की ल़डाई बताने वाले भाजपा पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा अनंत कुमार (केंद्रीय मंत्री) के खिलाफ आरोप हैं, अभी तक केवल पूछताछ चल रही है। कर्नाटक में भी कई भाजपा नेताओं पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं। क्या येड्डीयुरप्पा (कर्नाटक पार्टी अध्यक्ष) भ्रष्टाचार के आरोप नहीं झेल रहे हैं? उन्होंने कहा कि भाजपा नेताओं को शिवकुमार से इस्तीफा मांगने का नैतिक आधार नहीं है क्योंकि उनके अपने नेता भ्रष्टाचार के आरोप झेल रहे हैं। शिवकुमार की मां के आरोप, कि छापों के दौरान सिद्दरामैया ने शिवकुमार से मिलने की कोशिश नहीं की, पर सिद्दरामैया ने कहा कि मैंने उनके बेटे शिवकुमार के साथ कुछ भी गलत नहीं किया है। मैं जल्द ही शिवकुमार की मां से मिलूंगा और उन्हें समझाऊंगा। शिवकुमार की मां ने मीडिया के एक वर्ग से बात करते हुए आरोप लगाया था कि सिद्दरामैया ने उनके बेटों शिवकुमार और सुरेश कुमार का अपने फायदे के लिए उपयोग किया लेकिन आज जब उनके बेटे मुसीबत में घिरे हैं तब सिद्दरामैया मदद के लिए नहीं आए। ्यप्रय्प्·र्रुैंद्बय्द्य ·र्ैंर्‍ डप्य्ड्वद्भ ज्य्ैंघ्आयकर छापेमारी के तीसरे दिन डॉ रामेश्वर राव ने शिवकुमार के सदाशिवनगर स्थित निवास स्थान में जाकर शिवकुमार का स्वास्थ्य परीक्षण किया। हालांकि तीसरे दिन भी आयकर अधिकारियों ने शिवकुमार को घर से बाहर निकलने नहीं दिया। साथ ही डॉ राव को छो़डकर अन्य किसी बाहरी व्यक्ति को शिवकुमार से मिलने नहीं दिया गया। सूत्रांे के अनुसार आयकर अधिकारी कई प्रकार के दस्तावेजों की जांच कर रहे हैं। िि ज्ख्ब्ह्र झ्द्य ब्रुंश्च ब्स् च्णय्झ्ष्ठद्बय्द्यर्‍आयकर विभाग ने बुधवार को शिवकुमार से जु़डी विभिन्न संपत्तियों पर अपनी जांच शुरू कर दी थी, जिन्होंने राज्यसभा चुनाव से पहले गुजरात कांग्रेस के ४४ विधायकों को शहर के बाहर एक रिजॉर्ट में ठहराया हुआ था ताकि उनको फुसलाने के भाजपा के तथाकथित प्रयासों को रोका जा सके। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल इस क़डे चुनाव में उम्मीदवार हैं। आयकर अधिकारियों ने बताया कि तथाकथित कर चोरी के एक मामले के संबंध में देशभर में ६६ जगहों पर प़डे छापों में अब तक १५ करो़ड की कीमत के गहने और नकदी पक़डी गई है।