चेन्नई। मुख्यमंत्री ईडाप्पाडी के पलानीसामी ने रविवार को ईरोड में ५८ करो़ड रुपए की लागत से निर्मित ओवरब्रिज का उद्घाटन किया। उन्होंने जिले में ७३६ करो़ड रुपए की लागत से होने वाली कल्याणकारी योजनाओं को शुभारंभ किया। इस अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि ईरोड हमेशा से अखिल भारतीय अन्ना द्रवि़ड मुनेत्र कषगम (अन्नाद्रमुक) का गढ रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता की हमेशा यहां पर सराहना की गई और उनका समर्थन किया गया।मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले विधानसभा चुनाव में पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता द्वारा यहां से घोषित सभी उम्मीदवार विजयी रहे थे। मैं इस अवसर पर अन्नाद्रमुक को विजयी बनाने वाले सभी लोगों को धन्यवाद देना चाहूंगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज मुख्यमंत्री जयललिता द्वारा प्रस्तावित कई योजनाओं का यहां पर शुभारंभ किया जा रहा है। इसके साथ ही किसानों द्वारा लंबे समय से की जा रही मांगों को पूरा करते हुए राज्य के सभी जल निकायों से गाद की सफाई की जा रही है और इन जल निकायों से निकलने वाले गाद को किसानों में नि:शुल्क बांटा जा रहा है।पलानीसामी ने कहा कि मैं स्वयं एक किसान के परिवार से ताल्लुक रखता हूं और इसलिए मुझे यह पता है कि किसानों के सामने किस प्रकार की समस्याएं आती है। मैं यह आश्वासन देता हंू कि यह सरकार किसानों के कल्याण से संबंधित कार्यों को सुनिश्चित करेगी। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों की समस्याओं का समाधान करने के लिए पेयजल परियोजनाओं को पूरा करने पर ध्यान के्द्रिरत कर रही है। किसानों को सूखे के इस स्थित मंें अपने मवेशियों के लिए समुचित चारा मिल सके इसके लिए राज्य सरकार ने विभिन्न कृषि केन्द्रों के माध्यम से उन्हें कम कीमत पर पशु चारा उपलब्ध करवाने की शुरुआत की है।उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री ने राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को आय उपलब्ध करवाने के लिए दुधारु पशुओं को बांटने की योजना शुरु की और इस योजना से राज्य के हजारों गरीब लोग लाभान्वित हो रहे हैं। सरकार की योजना है कि आगामी मानसून से पहले सभी जल निकायों से गाद की सफाई का कार्य पूरा कर लिया जाए ताकि मानसून के आगमन के बाद इन जल निकायों में प्रचूर मात्रा में जल संग्रहित किया जा सके और आने वाले समय में राज्य के किसानों को पानी की कमी का सामना नहीं करना प़डे। उन्होंने कहा कि सूखा ग्रस्त किसानों को मुअवाजा देने के लिए राशिक आवंटित की जा चुकी है और जल्द ही किसानों को मुआवजे की राश प्रदान करने का कार्य शुरु कर दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की ओर से किसानों को सब्सिडी देने की कई योजनाएं भी चलाई जा रही है और सरकार इन योजनाओं का विस्तार करने पर भी विचार कर रही है। इस अवसर पर उनके साथ राज्य के स्कूली शिक्षा मंत्री केए सेंगोट्टैयान, उद्योग मंत्री पी तंगमणि, नगरपालिका प्रशासन मंत्री एसपी वेलूमणि और केसी करुपन्नन उपस्थित थे। कार्यक्रम से पहले मुख्यमंत्री ने यहां पर सरकार अस्पताल के निकट स्थित राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री एमजी रामचंद्रन की प्रतिमा पर माल्यापर्ण किया